मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना 2023 (Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana 2023) | Anuprati Scheme Rajasthan

Photo of author
Ekta Ranga

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना (Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana)- हमारे देश में अनेकों प्रकार की योजनाएं निकाली जाती हैं। हर योजना का अपना अलग महत्व होता है। इन्हीं योजनाओं में हमारे देश की सरकार विद्यार्थियों के लिए भी अनेकों योजनाएं तैयार करती रहती है। इन्हीं योजना में से एक राजस्थान सरकार की मुख्यमंत्री अनुप्रति योजना है। यह योजना अपने आप में अलग है। इस योजना के तहत गरीब विद्यार्थियों को निशुल्क कोचिंग लेने का मौका मिलता है। बहुत से विद्यार्थी ऐसे भी होते हैं जो कि पैसों की तंगी के चलते पढ़ नहीं पाते हैं। इसी के चलते ही सरकार ने इस योजना को लागू किया है।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना 2023 (Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana 2023)

हमारे देश की केंद्रीय और राज्य सरकार मिलकर अनेकों योजनाओं पर काम करती हैं। यह सभी योजनाएं सरकार इसलिए लागू करती हैं ताकि आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की उन्नति हो। सरकार हर प्रकार की मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने के लिए योजनाएं तैयार करती है। कोई योजना से लोगों को आवास मुहैया करवाया जाता है, तो कोई योजना से विद्यार्थियों को लाभ पहुंचाया जाता है। ऐसी ही एक योजना है जिसका नाम है मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना। यह राजस्थान सरकार की एक शानदार योजना है। इस योजना को शुरू करने का श्रेय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को जाता है। इस योजना के तहत राजस्थान के सभी असहाय मेधावी छात्रों को सरकार की तरफ से आर्थिक मदद दी जाती है। उन सभी को यह मदद मुफ्त कोचिंग के रूप में दी जाती है। तो आइए हम जानते हैं कि आखिर मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना क्या है?

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना राजस्थान (Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana Rajasthan) | Anuprati Scheme Rajasthan 2023

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की जानकारी एकदम संक्षिप्त में-

योजना का नाममुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना
योजना की शुरुआत किसने कीराजस्थान सरकार ने
अनुप्रति योजना की शुरुआत की गईजनवरी, 2005
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
लाभार्थीराजस्थान राज्य के गरीब विधार्थी
एप्लीकेशन स्टेटसअभी मिल रहा है
ऐप्लीकेशन भरने की अंतिम तिथि 15 अगस्त 2023
योजना का उद्देश्य क्या हैआर्थिक रूप से कमजोर लोगों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए प्रोत्साहन धनराशि प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइटdepartment.rajasthan.gov.in | sje.rajasthan.gov.in
यूजर मैनुअलयहां से देखें

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना प्रस्तावना

हर एक इंसान के लिए शिक्षा बहुत ज्यादा जरूरी है। हमारी रोटी, कपड़ा और मकान की नींव शिक्षा से ही तैयार होती है। कहने का तात्पर्य यह है कि उच्च शिक्षा प्राप्त करके ही इंसान शानदार कमाई कर सकता है। लेकिन आज भी हमारे देश में ऐसे कई छात्र हैं जो उच्च शिक्षा इसलिए हासिल नहीं कर पाते हैं क्योंकि वह ट्यूशन करने के लिए आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होते हैं। ऐसे में वह पढ़ाई में पिछड़ जाते हैं और भारत की अर्थव्यवस्था में योगदान नहीं दे पाते हैं। इन सारी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना जैसी योजना को तैयार किया है। इस योजना से तक़रीबन 30 हजार छात्रों को लाभ पहुंचेगा। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विशेष पिछडा वर्ग, अन्‍य पिछडा वर्ग एवं सामान्‍य वर्ग के बी.पी.एल. परिवार इस योजना के माध्यम से मुफ्त में कोचिंग प्राप्त कर सकेंगे। इस योजना का शुभारंभ 06 जून 2021 को हुआ था।  

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना क्या है?

हमारे देश में आज भी ऐसे अनेकों छात्र हैं जो उच्च शिक्षा हासिल करने का साहस नहीं रखते। वह मेधावी होते हुए भी अपनी आर्थिक स्थिति के चलते समझौता कर लेते हैं। ऐसे में वह समाज में किसी भी रूप से योगदान नहीं दे पाते हैं। ऐसी स्तिथि को ही भांपते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत सरकार विभिन्न प्रोफेशनल कोर्स एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाती है और वह भी मुफ्त में। जिन छात्रों ने दसवीं और बारवहीं में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है उन्हें ही इस योजना का लाभ उठाने का अवसर प्राप्त होगा। इस योजना के तहत SC, ST, OBC, MBC & EWS वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर छात्र शामिल हो सकते हैं। इस योजना की एप्लीकेशन भरने की अंतिम तिथि 15 अगस्त 2023 थी।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना किसके लिए है?

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना उन सभी प्रतिभावान छात्रों के लिए है जो पढ़ाई के लिए ट्यूशन का खर्चा नहीं उठा सकते हैं। ऐसे छात्रों को सरकार प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करवाती है। यह योजना विषेश रूप से SC, ST, OBC, MBC & EWS वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए छात्रों का 10वीं और 12वीं में प्रदर्शन शानदार होना चाहिए। सरकार छात्रों को सिविल सेवा परीक्षा, आरएएस एग्जाम, राजस्थान लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा, सब इंस्पेक्टर, रीट, कॉन्स्टेबल परीक्षा, इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा, मेडिकल प्रवेश परीक्षा, क्लैट परीक्षा जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निशुल्क कोचिंग प्रदान करवाती है। इस योजना का लाभ वही छात्र उठा सकते हैं जिनके माता पिता की वार्षिक आय 8 लाख से ज्यादा नहीं है।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के लाभ

  • इस योजना के तहत 30 हजार मेधावी छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान करवाई जाएगी। कुछ समय पहले ही इन छात्राओं की संख्या मात्र 15 हजार ही थी।
  • इस योजना की मदद से सभी वंचित समाज के बच्चों का भला हो पाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से मिलने वाली राशि से पिछड़े समाज के बच्चों का कल्याण होगा।
  • जिन मेधावी छात्रों का चयन सरकार करेगी उन सभी को सरकार 5 लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए यह जरूरी है कि छात्र के परिवार की आय 8 लाख से ज्यादा ना हो।
  • यह योजना वंचित वर्ग के सभी छात्रों की भलाई करेगी।
  • इस योजना से वंचित वर्ग के छात्र पढ़ लिखकर डॉक्टर और इंजीनियर जैसे पद पर नियुक्त हो पाएंगे।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना का उद्देश्य यही है कि इस योजना के तहत सभी प्रतिभाशाली बच्चों को मुफ्त में कोचिंग मिले। सरकार इस योजना से वंचित वर्ग के बच्चों का उत्साह बढ़ाना चाहती है। इसी चीज को देखते हुए सरकार ने यह वादा किया है कि जो भी छात्र एससी/एसटी वर्ग के हैं और जिन्होंने भारतीय सिविल परीक्षा उत्तीर्ण की है उन सभी को 1 लाख की सहायता धनराशि उपलब्ध करवाई जाएगी। इस योजना के माध्यम से गरीब तबके के बच्चों का भविष्य निखारेगा। होनहार छात्र सिविल सेवा परीक्षा, आरएएस एग्जाम, राजस्थान लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा, सब इंस्पेक्टर, रीट, कॉन्स्टेबल परीक्षा, इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा, मेडिकल प्रवेश परीक्षा, क्लैट परीक्षा जैसी कठिन परीक्षाओं की कोचिंग बिना झिझक के ले सकेंगे।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की पात्रता

  • जो कोई भी छात्र इस योजना के लिए आवेदन कर रहा है उनके लिए यह जरूरी है कि वह राजस्थान के ही मूल निवासी हो।
  • सरकार उन्हीं छात्रों का चयन करेगी जिन्होंने 10वीं और बारहवीं में शानदार प्रदर्शन किया होगा।
  • इस योजना का लाभ वही छात्र उठा सकते हैं जिनके परिवार में किसी की भी आय 8 लाख से ज्यादा ना हो।
  • जिन किसी भी छात्र के माता पिता सरकारी कर्मचारी के रूप में काम करते हैं और सरकार की तरफ से पे मैट्रिक्स लेवल-11 तक का वेतन प्राप्त करते हैं वह भी इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं।
  • राजस्थान को छोड़कर किसी अन्य राज्य के स्कूली छात्र मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।
  • SC, ST, OBC, MBC & EWS वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर छात्र इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं।
  • जो छात्र आगे इंजीनियरिंग अथवा मेडिकल की तैयारी करना चाहता है उसके लिए यह जरूरी है कि वह 12वीं 60% अंकों से उत्तीर्ण करे।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के लिए जरूरी दस्तावेज़

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • प्रतियोगी परीक्षाओं में पास होने के प्रमाण पत्र
  • शपथ पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • शिक्षण संस्थान में एडमिशन लेने का प्रमाण
  • ईमेल आईडी
  • मोबाइल नंबर
  • सामान्य वर्ग के लिए बीपीएल प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आवेदन करने वाले विद्यार्थी को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जब आधिकारिक वेबसाइट खुल जाएगी तो उसपर आवेदक को रजिस्ट्रेशन बटन को दबाना होगा।
  • जब आवेदक रजिस्ट्रेशन बटन दबा देगा तो उसके सामने एक फॉर्म खुलकर आएगा।
  • अब अगला स्टेप यह है कि चयनित छात्र को उस फॉर्म में दी गई आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी। सारी जानकारी भरने के बाद छात्र दस्तावेजों को अटैच कर दे।
  • अब फॉर्म को कहीं भी लेकर नहीं जाना है। फॉर्म जितना जल्दी हो सके उसे विभागीय जिलाधिकारी को सबमिट करना है।
  • ऐसा करने के बाद आपकी आवेदन प्रकिया पूरी हो जाएगी।

FAQs

Q1. मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना क्या है?

A1. हमारे देश में आज भी ऐसे अनेकों छात्र हैं जो उच्च शिक्षा हासिल करने का साहस नहीं रखते। वह मेधावी होते हुए भी अपनी आर्थिक स्थिति के चलते समझौता कर लेते हैं। ऐसे में वह समाज में किसी भी रूप से योगदान नहीं दे पाते हैं। ऐसी स्तिथि को ही भांपते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत सरकार विभिन्न प्रोफेशनल कोर्स एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाती है और वह भी मुफ्त में।

Q2. मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना किसके लिए है?

A2. मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना उन सभी प्रतिभावान छात्रों के लिए है जो पढ़ाई के लिए ट्यूशन का खर्चा नहीं उठा सकते हैं। ऐसे छात्रों को सरकार प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करवाती है। यह योजना विषेश रूप से SC, ST, OBC, MBC & EWS वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए है।

Q3. अनुप्रति कोचिंग योजना में छात्रों को भोजन और आवास की लिए कितनी धनराशि मिलती हैं?

A3. अनुप्रति कोचिंग योजना में छात्रों को 40 हजार रुपए की धनराशि प्रदान की जाती है।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की वेबसाइट- department.rajasthan.gov.in | sje.rajasthan.gov.in

अन्य योजनाओं के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Reply