एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 राजनीति विज्ञान अध्याय 4 राजनीतिक दल

Photo of author
Ekta Ranga

आप इस आर्टिकल से कक्षा 10 राजनीति विज्ञान अध्याय 4 राजनीतिक दल के प्रश्न उत्तर प्राप्त कर सकते हैं। राजनीतिक दल के प्रश्न उत्तर परीक्षा की तैयारी करने में बहुत ही लाभदायक साबित होंगे। इन सभी प्रश्न उत्तर को सीबीएसई सिलेबस को ध्यान में रखकर बनाया गया है। कक्षा 10 राजनीति विज्ञान पाठ 4 के एनसीईआरटी समाधान से आप नोट्स भी तैयार कर सकते हैं, जिससे आप परीक्षा की तैयारी में सहायता ले सकते हैं। हमें बताने में बहुत ख़ुशी हो रही है कि यह सभी एनसीईआरटी समाधान पूरी तरह से मुफ्त हैं। छात्रों से किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जायेगा।

Ncert Solutions For Class 10 Civics Chapter 4 In Hindi Medium

हमने आपके लिए राजनीतिक दल के प्रश्न उत्तर को संक्षेप में लिखा है। इन समाधान को बनाने में ‘राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद’ की सहायता ली गई है। राजनीतिक दल पाठ बहुत ही रोचक है। इस अध्याय को आपको पढ़कर और समझकर बहुत ही अच्छा ज्ञान मिलेगा। आइये फिर नीचे कक्षा 10 राजनीति विज्ञान अध्याय 4 के प्रश्न उत्तर (Class 10 Civics Chapter 4 Question Answer In Hindi Medium) देखते हैं।

प्रश्न1 – लोकतंत्र में राजनीतिक दलों की विभिन्न भूमिकाओं की चर्चा करें।

उत्तर :- लोकतंत्र में राजनीतिक दलों की भूमिका इस प्रकार है –

(1) अलग अलग राजनीतिक पार्टियां चुनाव लड़ती है।

(2) राजनीतिक पार्टियों का काम होता है जनता की राय को अच्छे से सुनना और जनता के अनुसार कानून को लागू भी करना।

(3) एक राजनीतिक पार्टी का काम है चुनाव जीतना और अपनी पार्टी का अच्छे से संचालन करना।

(4) राजनीतिक पार्टियां विपक्ष की भूमिका को भी अच्छी तरह से निभाते हैं।

प्रश्न 2 – राजनीतिक दलों के सामने क्या चुनौतियाँ हैं?

उत्तर :- राजनीतिक दलों की अपनी-अपनी चुनौतियां होती है –

आंतरिक लोकतंत्र का अभाव –

(1) अक्सर देखा गया है कि राजनीतिक पार्टियों के आपसी दलों में मनमुटाव रहता है।

(2) जब पार्टी के नेतृत्व की बात आती है तो राजनीतिक पार्टी के प्रमुख और बड़े नेता ही पार्टी का नेतृत्व निभाते हैं।

वंशवाद – राजनीतिक पार्टियों में वंशवाद की दिक्कत भी बहुत ज्यादा है। वंशवाद के चलते पार्टियों में केवल भाई – भतीजावाद को ही महत्व दिया जाता है। वंशवाद दूसरे आम नेताओं को आगे आने का मौका नहीं देती।

धन और ताकत का प्रयोग

(1) पार्टियां उन लोगों को ही उम्मीदवार बनाती है जो उनकी पार्टी के प्रचार- प्रसार के लिए धन इकठ्ठा कर सके।

(2) कभी-कभी पार्टियां चुनाव जीतने के लिये आपराधिक गतिविधियों वाले उम्मीदवारों का भी सहारा लेती है।

प्रश्न 3 – राजनीतिक दल अपना कामकाज बेहतर ढंग से करें, इसके लिए उन्हें मज़बूत बनाने के कुछ सुझाव दें।

उत्तर :- राजनीतिक दल अपना कामकाज बेहतर ढंग से करें, इसके लिए उन्हें मजबूत बनाने के कुछ उपाय है –

(1) महिलाओं के लिए आरक्षित सीटें – राजनीतिक पार्टियों के लिए यह बहुत जरूरी है कि वह महिलाओं के लिए सीटें आरक्षित करें। महिलाओं को आरक्षण देने से राजनीतिक दल मजबूत बनते हैं।

(2) अच्छे और बेदाग छवि वाले उम्मीदवारों का प्रयोग – नेताओं के लिए यह बहुत जरूरी है कि वह अपने राजनीतिक दल में अच्छे और बेदाग छवि वाले उम्मीदवारों को रखे।

(3) सभी नेता को अपने ही तरफ से चुनाव का हर प्रकार का खर्च उठाना चाहिए।

(4) पढ़े लिखे लोगों को ही उम्मीदवारों की लिस्ट में शामिल करना चाहिए।

प्रश्न 4 – राजनीतिक दल का क्या अर्थ होता है?

उत्तर :- राजनीतिक दल को लोगों के एक ऐसे संगठित समूह के रूप में समझा जा सकता है जो चुनाव लड़ने और सरकार में राजनीतिक सत्ता हासिल करने के उद्देश्य से काम करता है। समाज के सामूहिक हित को ध्यान में रखकर यह समूह कुछ नीतियाँ और कार्यक्रम तय करता है।

प्रश्न 5 – किसी भी राजनीतिक दल के क्या गुण होते हैं?

उत्तर :- राजनीतिक दल के गुण हैं –

(1) जो राजनीतिक दल होते हैं उनके सभी पार्टी के सदस्य पार्टी के हर नीतियों का समान रूप से पालन करते हैं।

(2) जितने भी राजनीतिक दल होते हैं वह सभी ऐसी नीतियों को बनाते हैं जिससे कि आम जनता का कल्याण हो सके।

(3) राजनीतिक दल की जो कोई भी पार्टी जीतती है वह व्यक्तिगत पार्टी जनता से किए गए अपने वादों को बखूबी से निभाती है।

प्रश्न6 – चुनाव लड़ने और सरकार में सत्ता सँभालने के लिए एकजुट हुए लोगों के समूह को …………… कहते हैं।

उत्तर :- राजनीतिक दल।

प्रश्न 7 – पहली सूची [संगठन/दल] और दूसरी सूची (गठबंधन/मोर्चा) के नामों का मिलान करें और नीचे दिए गए कूट नामों के आधार पर सही उत्तर ढूँढें :

सूची 1सूची 2
इंडियन नेशनल कांग्रेस(क) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन
भारतीय जनता पार्टी(ख) क्षेत्रीय दल
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्ससिस्ट)(ग) संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन
तेलुगु देशम पार्टी(घ) वाम मोर्चा
1234
(क)
(ख)
(ग)
(घ)

उत्तर :- (ग) ग, क, घ, ख।

प्रश्न 8 – इनमें से कौन बहुजन समाज पार्टी का संस्थापक है?

(क) कांशीराम

(ख) साहू महाराज

(ग) बी. आर. आंबेडकर

(घ) ज्योतिबा फुले

उत्तर :- कांशीराम

प्रश्न 9 – भारतीय जनता पार्टी का मुख्य प्रेरक सिद्धांत क्या है?

(अ) बहुजन समाज

(ब) क्रांतिकारी लोकतंत्र

(स) समग्र मानवतावाद

(द) आधुनिकता

उत्तर :- आधुनिकता।

प्रश्न10 – पार्टियों के बारे में निम्नलिखित कथनों पर गौर करें:

(अ) राजनीतिक दलों पर लोगों का ज्यादा भरोसा नहीं है।

(ब) दलों में अक्सर बड़े नेताओं के घोटालों की गूंज सुनाई देती है।

(स) सरकार चलाने के लिए पार्टियों का होना जरूरी नहीं।

इन कथनों में से कौन सही है? 

(क) अ, ब और स (ख) अ और ब (ग) ब और स (घ) अ और स

उत्तर :- (ख) अ और ब।

प्रश्न 11 – निम्नलिखित उद्धरण को पढ़ें और नीचे दिए गए प्रश्नों का जबाव दें:

मुहम्मद यूनुस बांग्लादेश के प्रसिद्ध अर्थशास्त्री हैं। गरीबों के आर्थिक और सामाजिक विकास के प्रयासों के लिए उन्हें अनेक अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं। उन्हें और उनके द्वारा स्थापित ग्रामीण बैंक को संयुक्त रूप से वर्ष 2006 का नोबल शांति पुरस्कार दिया गया। फरवरी 2007 में उन्होने एक राजनीतिक दल बनाने और संसदीय चुनाव लड़ने का फैसला किया। उनका उद्देश्य सही नेतृत्व को उभारना, अच्छा शासन देना और नए बांग्लादेश का निर्माण करना है। उन्हें लगता है कि पारंपरिक दलों से अलग एक नए राजनीतिक संस्कृति पैदा हो सकती है। उनका दल निचले स्तर से लेकर ऊपर तक लोकतांत्रिक होगा।

नागरिक शक्ति नामक इस नये दल के गठन से बांग्लादेश में हलचल मच गई है। उनके फैसले को काफी लोगों ने पसंद किया तो अनेक को यह अच्छा नहीं लगा। एक सरकारी अधिकारी शाहेडुल इस्लाम ने कहा, “मुझे लगता है कि अब बांग्लादेश में अच्छे और बुरे के बीच चुनाव करना संभाव हो गया है। अब एक अच्छी सरकार की उम्मीद की जा सकती है। यह सरकार न केवल भ्रष्टाचार से दूर रहेगी बल्कि भ्रष्टाचार और काले धन की समाप्ती को भी अपनी प्राथमिकता बनाएगी”।

पर दशकों से मुल्क की राजनीति में रुतबा रखने वाले पुराने दलों के नेताओं में संशय है। बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी के एक बड़े नेता का कहना है: “नोबेल पुरस्कार जीतने पर क्या बहस हो सकती है पर राजनीति एकदम अलग चीज़ है। एकदम चुनौती भरी और अक्सर विवादास्पद” कुछ अन्य लोगों का स्वर और कडा था। वे उनके राजनीति प्रक्षक ने कहा, “देश से बाहर की ताक़तें उन्हें राजनीति पर थोप रही हैं”।

क्या आपको लगता है कि यूनुस ने नई राजनीतिक पार्टी बनाकर ठीक किया? क्या आप विभिन्न लोगों द्वारा जारी बयानों और अंदेशों से सहमत हैं? इस पार्टी को दूसरों से अलग काम करने के लिए खुद को किस तरह संगठित करना चाहिए? अगर आप इस राजनीतिक दल के सस्थापकों में एक होते तो इसके पक्ष में क्या दलील देते?

उत्तर :- जी, हाँ, यूनुस ने नई राजनीतिक पार्टी बनाकर एकदम सही किया है। हम किन्हीं लोगों के बयान से सहमत हैं तो किन्हीं के बयानों से सहमत भी नहीं है। नई राजनीतिक पार्टियों का होना बहुत आवश्यक है। इससे देश में समानता बनी रहती है। लोगों के बीच एकता बनी रहती है। हमारे हिसाब से यूनुस की पार्टी को समाज के कल्याण हेतु काम करना चाहिए। उसकी पार्टी को जनता की सारी जरूरतों का पूरा ध्यान रखना चाहिए।

विद्यार्थियों को कक्षा 10वीं राजनीति विज्ञान अध्याय 4 राजनीतिक दल के प्रश्न उत्तर प्राप्त करके कैसा लगा? हमें अपना सुझाव कमेंट करके ज़रूर बताएं। कक्षा 10वीं राजनीति विज्ञान अध्याय 4 के लिए एनसीईआरटी समाधान देने का उद्देश्य विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान देना है। इसके अलावा आप हमारे इस पेज की मदद से सभी कक्षाओं के एनसीईआरटी समाधान और एनसीईआरटी पुस्तकें भी प्राप्त कर सकते हैं।

कक्षा 10 हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी, विज्ञान, गणित विषयों के समाधानयहाँ से देखें

Leave a Reply