हाथी पर निबंध (Essay On Elephant In Hindi)- पूरी जानकारी देखें

Photo of author
Shubham Gupta

हाथी पर निबंध (Essay On Elephant In Hindi)- इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपके लिए लेकर आए हैं हाथी पर निबंध (Hathi Par Nibandh)। वो हाथी जो बच्चों के प्रिय जानवरों में से एक होता है और वह हाथी की सवारी करना भी खूब पसंद करते हैं। हाथी पर लेख (Hathi Par Lekh) लिखने का हमारा उद्देश्य केवल इतना है कि आपको हाथी के बारे में पता चल सके। About Elephant In Hindi में जानने के लिए आपको हाथी पर लेख हिंदी में (Hathi Par Lekh Hindi Mein) पढ़ना होगा। विद्यार्थी हाथी पर निबंध हिंदी में (Elephant Essay In Hindi) पढ़ने के बाद खुद भी हाथी पर एक अच्छा निबंध तैयार कर सकते हैं।

हाथी पर निबंध (Essay On Elephant In Hindi)

आपको बता दें कि parikshapoint.com के इस पेज पर दिया गया हाथी पर निबंध (Hathi Per Nibandh) एकदम सरल, सहज और आसान भाषा में लिखा गया है। हमने हाथी पर निबंध कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक के बच्चों को ध्यान में रखकर लिखा है। स्कूलों में अकसर बच्चों को हाथी पर निबंध या फिर Paragraph On Elephant लिखने के लिए दिया जाता है। हाथी पर निबंध (Essay On Elephant) लिखने से पहले नीचे दिए गए हिंदी में हाथी पर निबंध को पढ़ सकते हैं।

हाथी पर निबंध
(Elephant Essay In Hindi)

भूमिका

हाथी दुनिया के सबसे बड़े और ताकतवर जानवरों में से एक है। हाथी केवल ताकतवर ही नहीं बल्कि बुद्धिमान जानवर भी है। वैसे अगर देखें तो हाथी की गिनती जंगली जानवरों में होती है, लेकिन उसे ट्रेनिंग देकर पालतू जानवर बनाया जाता है और भारी-भारी सामान ढोने के लिए और सर्कस में खेल दिखाने के लिए तैयार किया जाता है। हाथी को एक शाही जानवर माना गया है, क्योंकि प्राचीन काल में हाथी राजा-महाराजाओं की सवारी हुआ करता था।

अन्य जानवरों पर निबंध भी पढ़ें

गाय पर निबंध यहां से पढ़ें
कुत्ते पर निबंध यहां से पढ़ें

हाथी के बारे में

हाथी बड़ा और वजनदार जानवर है, जिसका रंग ग्रे या स्लेटी होता है। हाथी लगभग 10 से 15 फीट तक ऊंचा होता है। एक हाथी का वजन लगभग 5000 किलो से 6000 किलो तक होता है। हाथी के खंबे की तरह चार बड़े पैर, पंखे की तरह दो बड़े कान, बटन की तरह दो छोटी आँखें, एक छोटी पूँछ, एक लम्बी सूंड और दो लम्बे सफेद दाँत होते हैं। हाथी के दाँतों को टस्क भी कहा जाता है।

हाथी जंगलों में रहता है और शाकाहारी जानवर है। वैसे तो हाथी का प्रिय भोजन गन्ना है लेकिन वह हरी पत्तियाँ, केले, केले के पेड़, पौधे, अखरोट आदि चीजें भी खाता है। हाथी पूरे दिन में 100 से 150 किलो तक खाना खा सकता है और 100 से 150 लीटर तक पानी पी सकता है। हाथी 100 से 120 सालों तक जिंदा रह सकता है। हाथी भारत के असम, मैसूर, त्रिपुरा आदि राज्यों के घने जंगलों में पाया जाता है।

हाथी की विशेषता

हाथी की विशेषता है कि यह अपनी सूंड से पानी पीता है और भोजन करता है। हाथी अपनी सूंड में लगभग आठ से नौ लीटर तक पानी भरकर रख सकता है। हाथी एक बार में 350 किलोग्राम तक वजन को आसानी से उठा सकता है। हाथी के मुँह में कुल 24 दांत होते हैं और उसकी सूंड के दोनों तरफ दो लंबे और नुकीले सफ़ेद दांत भी होते हैं।

हाथी का स्वभाव

हाथी शांत स्वभाव का जानवर है लेकिन यदि कोई उसे तंग करता है, तो फिर वह खतरनाक हो जाता है और कुछ भी कर सकता है। हाथी सिर्फ 3 से 4 घंटे तक ही सोता है। हाथी एक दिन में लगभग 10 से 20 किलोमीटर तक आसानी से चल सकता है। हाथी की चाल धीरे होती है। हाथी को रोज़ नहाना बहुत पसंद है।

हाथी का महत्व

हाथी का महत्व आज से नहीं बल्कि पौराणिक काल से चला आ रहा है। जब मोटर गाड़ियाँ और वाहन मौजूद नहीं थे, तो लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए हाथी का ही इस्तेमाल किया करते थे। लोग आज भी हाथी का इस्तेमाल भारी सामान और माल ढोने के लिए करते हैं। हाथी भारी-से-भारी पेड़ की लकड़ी भी आसानी से उठा सकता है। हाथी बहुत से काम कर सकता है।

हाथी की उपयोगिता

हाथी का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। पहले के समय में लोग हाथी पर बैठकर शिकार किया करते थे और युद्ध में भी हाथी का ही इस्तेमाल किया जाता था। हाथी का शरीर बड़ा होने की वजह से और हाथी की चमड़ी सख्त होेने की वजह से इसके शरीर पर हथियारों का ज़्यादा गंभीर असर नहीं होता था। हाथी बहुत ही उपयोगी जानवर है। हाथी मरने के बाद भी इंसानों के काम आता है। हाथी के मरने के बाद उसके दाँतों और हड्डियों से कई तरह की महंगी मूर्तियाँ बनाई जाती हैं, जिनकी बाज़ार में अच्छी कीमत होती है।

निष्कर्ष

कुल मिलाकर देखा जाए तो हाथी को पालन कोई आसान बात नहीं है, लेकिन जो लोग हाथियों को पालते हैं और उनकी रक्षा करते हैं, हमें ऐसे लोगों का सदैव सम्मान करना चाहिए। ऐसा भी देखा जा रहा है कि वनों के खत्म होने से हाथियों की आबादी भी कम हो रही है। अगर हम चाहते हैं कि हाथियों की आबादी लुप्त न हो, तो हमें अपने वनों और पर्यावरण को बचाना होगा।

हाथी पर 10 लाइनें

1. हाथी ताकतवर, बुद्धिमान और शाकाहारी जानवर है।

2. हाथी बच्चों के प्रिय जानवरों में से एक है।

3. हाथी की सवारी करना बच्चों को बहुत अच्छा लगता है।

4. हाथी का रंग ग्रे या स्लेटी होता है।

5. हाथी के चार पैर, दो कान, दो आँखें, एक पूँछ, एक सूंड़ और दो सफेद दाँत होते हैं।

6. हाथी का प्रिय भोजन गन्ना है।

7. हाथी अपनी सूंड से पानी पीता है और खाना खाता है।

8. हाथी का इस्तेमाल भारी सामान और पेड़ों की लकड़ियाँ ढोने के लिए किया जाता है।

9. हाथी के दाँतों से कीमती मूर्तियाँ बनाई जाती हैं।

10. हमें हाथियों की आबादी को लुप्त होने से बचाना होगा।

हाथी पर अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल (Elephant FAQ’s In Hindi)

People also ask

प्रश्न- हाथी की विशेषता क्या है?

उत्तरः हाथी की विशेषता है कि वह अपनी सूंड में लगभग आठ से नौ लीटर तक पानी भरकर रख सकता है और 350 किलोग्राम तक वजन आसानी से उठा सकता है।

प्रश्न- हाथी कैसे बोलता है?

उत्तरः हाथी अपनी सूंड से आवाज़ निकालता है।

प्रश्न- हाथी के दांत की कीमत?

उत्तरः हाथी के दांत की कीमत लाखों में होती है।

प्रश्न- एलीफेंट क्या क्या खाता है?

उत्तरः एलीफेंट गन्ना, घास, सूखी पत्तियाँ आदि खाता है।

प्रश्न- हाथी कहाँ रहता है?

उत्तरः जंगली हाथी जंगलों में और पालतू हाथी चिड़ियाघर में रहता है।

प्रश्न- एक हाथी का वजन कितना होता है?

उत्तरः एक हाथी का वजन पांच से छह हजार किलो तक होता है।

प्रश्न- हाथी का स्त्रीलिंग शब्द क्या है?

उत्तर- हाथी का स्त्रीलिंग शब्द हथिनी है।

प्रश्न- हाथी के कान कैसे होते हैं?

उत्तरः हाथी के कान पंखे की तरह बड़े होते हैं।

प्रश्न- भारत में सबसे ज्यादा हाथी कहाँ पाए जाते हैं?

उत्तरः कर्नाटक।

प्रश्न- सबसे ज्यादा हाथी कौन से देश में पाए जाते हैं?

उत्तरः लाओस (Laos)।

प्रश्न- भारतीय हाथी का वैज्ञानिक नाम क्या है?

उत्तरः एलिफ्स मैक्सिमस (Elephas Maximus)।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह निबंध ज़रूर पसंद आया होगा और आपको इस निबंध से जुड़ी सभी ज़रूरी जानकारी भी मिल गई होगी। इस निबंध को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।

अन्य विषयों पर निबंध पढ़ने के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Reply