CISF Full Form In Hindi: सी.आई.एस.एफ. क्या है, योग्यता, चयन प्रक्रिया, वेतन

Photo of author
Mamta Kumari

सीआईएसएफ की फुल फॉर्म (CISF Full Form In Hindi)- भारत देश में कुछ युवा गैर-सरकारी नौकरी करते हैं तो कुछ सरकारी नौकरी पाने के लिए जी तोड़ मेहनत करते हैं। बहुत से युवा देश की सेवा करने के लिए सेना में जाना पसंद करते हैं। अपनी इस पसंद को पूरा करने के लिए वो बहुत-सी मुश्किलों से गुजरते हैं लेकिन जब वह अपने जुनून को कम नहीं होने देते, तो एक दिन उनकी मेहनत सफल हो जाती और वो वहाँ पहुँच जाते हैं जहाँ जाकर उन्होंने देश की सेवा करने का सपना देखा था। इसके अलावा कुछ ऐसे भी लोग है जो अपने जीवन को बेहतर बनाने के लिए सरकारी नौकरी का सपना देखते हैं।

सीआईएसएफ की फुल फॉर्म

सी.आई.एस.एफ. के पदों पर नौकरी पाने के बाद युवा समाज में सम्मान तो पाते ही हैं साथ ही कुछ सरकारी सुविधाएँ और अच्छा वेतन भी प्राप्त करते हैं। वैसे तो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से देश का हर नागरिक किसी न किसी तरह से देश की सेवा में अपना योगदान देता है लेकिन वर्दी पहनकर देश की सेवा या देश के नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने का अवसर हर किसी को नहीं मिलता है। इसके लिए नौकरियों के हिसाब से पढ़ाई भी करनी पड़ती है। उसके बाद योग्यता को ध्यान में रखते हुए कुछ परीक्षाओं को पास करना होता है। परीक्षा की तैयारी करते समय सबसे ज़्यादा आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना होता है क्योंकि शारीरिक रूप से फिट उम्मीदवारों को ही सेना के पदों के लिए चुना जाता है। अगर आप भी सी.आई.एस.एफ. में भर्ती होना चाहते हैं, तो आप इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं। यह आर्टिकल आपको बहुत हद तक मदद पहुँचा सकता है।

सी.आई.एस.एफ. क्या है?

सी.आई.एस.एफ. भारत देश की रक्षा के लिए कार्य करने वाला एक केंद्रीय सुरक्षा बल है जोकि कई सालों से देश की सुरक्षा में अपना योगदान देता आ रहा है। इस सुरक्षा बल द्वारा विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में कई तरह के कार्य किए जाते हैं। इसके प्रमुख कार्य हवाई अड्डों, नोट प्रेस, परमाणु संस्थानों, बंदरगाहों और सरकारी तथा गैर सरकारी गुप्त कार्यों या विशेष उद्देश्यों इत्यादि को सुरक्षा प्रदान करना है। अगर कभी भी सरकार को देश में आपातकाल लागू करना होता है या देश पर कोई खतरा अचानक से आ जाता है तब भी देश के लोगों की रक्षा का कार्य सी.आई.एस.एफ. को दिया जाता है। इस फोर्स की स्थापना वर्ष 1969 में हुई थी और तब से अभी तक यह देश की सुरक्षा में एक अहम भूमिका निभा रहा है।

सी.आई.एस.एफ. फुल फॉर्म

सी.आई.एस.एफ. का पूरा नाम हिंदी और अंग्रेजी में नीचे टेबल में पढ़ें-

सी.आई.एस.एफ. की फुल फॉर्म हिंदी में (CISF Full Form In Hindi)सी.आई.एस.एफ. की फुल फॉर्म अंग्रेजी में (CISF Full Form In English)
“केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल” (Kendriy Audyogik Suraksha Bal)“सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स” (Central Industrial Security Force)

ये फुल फॉर्म भी देखें-

एमबीए की फुल फॉर्म (MBA Full Form In Hindi)
इसरो की फुल फॉर्म (ISRO Full Form In Hindi)
आईटीआई की फुल फॉर्म (ITI Full Form In Hindi)
एनडीए की फुल फॉर्म (NDA Full Form In Hindi)

सी.आई.एस.एफ. का इतिहास

सी.आई.एस.एफ. का इतिहास बहुत साल पुराना है। भारतीय केंद्र सरकार द्वारा इसकी स्थापना वर्ष 1969 में संसद द्वारा एक अधिनियम के तहत की गई थी। उस दौरान लगभग 2000 से भी अधिक जवानों की क्षमता के साथ इस फोर्स की शुरुआत की गई थी लेकिन वर्तमान में यह संख्या एक लाख से अधिक हो गई है। इस सुरक्षा बल के गठन का मुख्य उद्देश्य सरकारी परियोजनाओं की सभी सुविधाओं और औद्योगिक क्षेत्रों को सुरक्षा प्रदान करना है। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल को 32 बटालियनों में विभाजित किया गया है, जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

सी.आई.एस.एफ. के लिए योग्यता

  • अभ्यर्थी भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • सी.आई.एस.एफ. में कुछ ऐसे भी पद होते हैं जिसके लिए शैक्षणिक योग्यता सिर्फ कक्षा 10वीं पास है। ऐसे ही कुछ पदों के लिए 12वीं और कुछ के लिए स्नातक होना अनिवार्य किया गया है। इस तरह आपकी शैक्षणिक योग्यता आपके पद पर निर्भर करती है।
  • उम्मीदवार की उम्र कम से कम 18 वर्ष और अधिक से अधिक 25 वर्ष होनी चाहिए। आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को सरकार की तरफ से आयु सीमा में रियायत बरती जाती है।
  • अभ्यर्थी मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • इस फोर्स के लिए महिलाएँ भी आवेदन कर सकती हैं।

शारीरिक योग्यता

श्रेणीलंबाईसीनादौड़
महिला157 सेमी.80 सेमी. लगभग 18 सेकेंड में 100 मीटर
पुरुष 170 सेमी.85 सेमी. लगभग 16 सेकेंड में 100 मीटर

सी.आई.एस.एफ. के लिए आवेदन प्रक्रिया

अगर आप भी सी.आई.एस.एफ. के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो इसकी ऑफिशियल वेबसाइट cisf.gov.in पर जाकर योग्यता के अनुसार आवेदन कर सकते हैं।

सी.आई.एस.एफ. के लिए चयन प्रक्रिया

इसमें भर्ती के लिए उम्मीदवार को कई चरणों से गुजरना पड़ता है और जो उम्मीदवार सभी चरणों को पास करते हैं उनका चयन ही सी.आई.एस.एफ. में होता है। सी.आई.एस.एफ. में चयन की प्रक्रिया निम्नलिखित है-

  • अभ्यर्थी को सबले पहले शारीरिक मानक परीक्षण से गुजरना पड़ता है। जो इसमें पास होते हैं उन्हे अगले चरण के लिए चुना जाता जाता है। यह नियम अंतिम चरण तक ऐसे ही चलता रहता है।
  • पहले चरण को पास करने के बाद आपको लिखित परीक्षा पास करनी होती है।
  • उसके बाद कौशल परीक्षण को उत्तीर्ण करना होता है।
  • कौशल परीक्षण को उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को मेडिकल परीक्षण को पास करना होता है।
  • जो उम्मीदवार मेडिकल पास करते हैं उन्हें ही साक्षात्कार के लिए चुना जाता है और अंत में जितने अभ्यर्थी साक्षात्कार में सफल होते हैं उनका ही चयन सी.आई.एस.एफ. में होता है। इस तरह विभिन्न प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद अभ्यर्थी इस सुरक्षा बल में नौकरी पाते हैं।
  • आपको बता दें कि इसमें अलग-अलग पद के लिए चयन प्रक्रिया अलग-अलग होती है।

सी.आई.एस.एफ. का पाठ्यक्रम

सी.आई.एस.एफ. की लिखित परीक्षा में कई तरह के प्रश्न आते हैं। प्रश्नों की संख्या 100 होती है और प्रत्येक प्रश्न के लिए एक अंक निर्धारित होता है यानी कि 100 प्रश्नों के लिए लिए 100 अंक। सभी पाठ्यक्रम के प्रत्येक विषयों से 25 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके पाठ्यक्रम को आप टेबल से देख सकते हैं-

विषय कुल प्रश्नों की संख्याअंकसमयावधि
सामान्य बुद्धि और तर्क2525
सामान्य ज्ञान और जागरूकता2525
प्रारंभिक गणित2525
अंग्रेजी/हिंदी2525
कुल1001002 घंटे

सी.आई.एस.एफ. के कार्य

सी.आई.एस.एफ. को भारत के शीर्ष पुलिस बालों में शामिल किया जाता है। इसके मुख्य कार्य निम्नलिखित हैं-

  • इस सुरक्षा बल का सबसे पहला और मुख्य कार्य सभी औद्योगिक केंद्रो को सुरक्षा प्रदान करना है।
  • नोट प्रेस की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी सरकार ने इसी सुरक्षा बल को दे रखी है।
  • परमाणु ऊर्जा संयंत्रों की सुरक्षा सी.आई.एस.एफ. के द्वारा ही की जाती है।
  • देश में आए किसी भी खतरे से देश के नागरिकों को बचाना।
  • सरकारी कारखानों, उपक्रमों और प्रमुख संस्थाओं को सुरक्षा प्रदान करना।
  • भारत के विशेष व्यक्तियों को सुरक्षा देने का कार्य भी सी.आई.एस.एफ. द्वारा किया जाता है।
  • देश में मतदान और प्राकृतिक आपदा के दौरान भी सरकार द्वारा केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल को कुछ कार्य दिए जाते है, जिसे ये बखूबी निभाते भी हैं।

सी.आई.एस.एफ. की शाखाएँ

सी.आई.एस.एफ. की मुख्य रूप से तीन शाखाएँ हैं, जिनके नाम हैं- कार्यकारी शाखा, अग्निशमन सेवा शाखा एवं मंत्रीस्तरीय शाखा, जिन्हें छः क्षेत्र (सेक्टर) में बाँटा गया हैं। ये क्षेत्र (सेक्टर) और उनके मुख्यालय निम्नलिखित हैं-

  1. पूर्वी क्षेत्र- मुख्यालय पटना
  2. उत्तरी क्षेत्र- मुख्यालय नई दिल्ली
  3. पश्चिमी क्षेत्र- मुख्यालय मुंबई
  4. दक्षणी सेक्टर- मुख्यालय चेन्नई
  5. उत्तर पूर्वी क्षेत्र- मुख्यालय कोलकाता
  6. एयरपोर्ट सेक्टर- मुख्यालय नई दिल्ली

सी.आई.एस.एफ. के शीर्ष छः पद

इसमें बहुत सारे पद होते हैं और ये पद रैंक के आधार पर मिलते हैं। रैंक के अनुसार सी.आई.एस.एफ. के शीर्ष छः पद निम्नलिखित हैं-

  • महानिदेशक
  • अतिरिक्त महानिदेशक
  • इंस्पेक्टर जनरल
  • उप-महानिरीक्षक
  • सेनानायक
  • उप-सेनानायक

सी.आई.एस.एफ. वेतन

सी.आई.एस.एफ. में शैक्षणिक योग्यता के मुताबिक कई पद होते हैं इसलिए पद के मुताबिक वर्दीधारियों का वेतन भी अलग-अलग होता है। 7वें वेतन आयोग के मुताबिक सी.आई.एस.एफ. कांस्टेबल के लिए आरंभिक वेतन लगभग 21,700/- रु. से 69,100/- रु. प्रति माह है। इसके साथ ही उन्हें कई तरह की सरकारी सुविधाएँ; जैसे- परिवहन भत्ता, महँगाई भत्ता, एचआरए इत्यादि भी प्रदान किए जाते हैं। इस तरह सी.आई.एस.एफ. में नौकरी पाने वाले उम्मीदवारों का वेतन 25,000/- रु. से 60,000/- रु. तक हो सकता है। यह वेतन पद के अनुसार कम-ज़्यादा हो सकता है।

सी.आई.एस.एफ. की तैयारी कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको सी.आई.एस.एफ. का सिलेबस पढ़ना चाहिए।
  • फिर अपने पाठ्यक्रम के मुताबिक एक समय-सारणी बनाएं और उसके अनुसार हर दिन पढ़ाई करें।
  • कोशिश करें कि अपने नोट्स खुद तैयार करें। ऐसा करने से आपको अपने विषयों को समझने में ज़्यादा मदद मिलेगी।
  • पढ़ने के लिए अपनी सुविधा के अनुसार सही जगह का चयन करें।
  • सी.आई.एस.एफ. के लिए आप कोचिंग क्लास से जुड़ सकते हैं लेकिन अगर आप असमर्थ हैं तो आप अपनी तैयारी इंटरनेट की सहायता से ऑनलाइन क्लास से भी पूरी कर सकते हैं।
  • पिछले दो-तीन साल के प्रश्न-पत्रों को खुद से हल करने की कोशिश करें।
  • इसके अलावा आप मॉडल पेपर भी देखें और उन्हें भी हल करने का प्रयास करें।
  • खुद को फिट रखने पर भी ध्यान दें क्योंकि फिट रहने वाले उम्मीदवारों को ही सुरक्षा बल में शामिल किया जाता है।
FAQs
प्रश्न: सी.आई.एस.एफ. क्या है?

उत्तर: सी.आई.एस.एफ. भारत देश की रक्षा के लिए कार्य करने वाला एक केंद्रीय सुरक्षा बल है जोकि कई सालों से देश की सुरक्षा में अपना योगदान देता आ रहा है। इस सुरक्षा बल द्वारा विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में कई तरह के कार्य किए जाते हैं। इसके प्रमुख कार्य हवाई अड्डों, नोट प्रेस, परमाणु संस्थानों, बंदरगाहों और सरकारी तथा गैर सरकारी गुप्त कार्यों या विशेष उद्देश्यों इत्यादि को सुरक्षा प्रदान करना है।

प्रश्न: सी.आई.एस.एफ. का फुल फॉर्म क्या होता है?

उत्तर: “केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल” (Central Industrial Security Force)

प्रश्न: सी.आई.एस.एफ. के लिए कितनी उम्र चाहिए?

उत्तर: उम्मीदवार की उम्र कम से कम 18 वर्ष और अधिक से अधिक 25 वर्ष होनी चाहिए। आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को सरकार की तरफ से आयु सीमा में रियायत बरती जाती है।

प्रश्न: सी.आई.एस.एफ. पूर्वी क्षेत्र/शाखा का मुख्यालय कहाँ है?

उत्तर: पटना में।

प्रश्न: ‘केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल’ (सी.आई.एस.एफ.) का मुख्यालय कहाँ है?

उत्तर: ‘केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल’ (सी.आई.एस.एफ.) का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

प्रश्न: सी.आई.एस.एफ. की सैलरी कितनी होती है?

उत्तर: सी.आई.एस.एफ. में शैक्षणिक योग्ता के मुताबिक कई पद होते हैं इसलिए पद के मुताबिक वर्दीधारियों का वेतन भी अलग-अलग होता है। 7वें वेतन आयोग के मुताबिक सी.आई.एस.एफ. कांस्टेबल के लिए आरंभिक वेतन लगभग 21,700/- रु. से 69,100/- रु. प्रति माह है। इसके साथ ही उन्हें कई तरह की सरकारी सुविधाएँ; जैसे- परिवहन भत्ता, महँगाई भत्ता, एचआरए इत्यादि भी प्रदान किए जाते हैं।

प्रश्न: सी.आई.एस.एफ. का मुख्य कार्य क्या है?

उत्तर: इसका सबसे पहला और मुख्य कार्य सभी औद्योगिक केंद्रो को सुरक्षा प्रदान करना है। जिसमें हवाई अड्डों, नोट प्रेस, परमाणु संस्थानों, बंदरगाहों और सरकारी तथा गैर सरकारी गुप्त कार्यों एवं विशेष उद्देश्यों इत्यादि को सुरक्षा प्रदान करना शामिल है।

अन्य फुल फॉर्म के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Comment