Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

सड़क सुरक्षा पर निबंध (Road Safety Essay In Hindi)

Photo of author
Ekta Ranga
Last Updated on

एक समय ऐसा था जब यातायात के साधन सीमित हुआ करते थे। लोग बैलगाड़ी में अपना सफर पूरा कर लेते थे। बहुत से लोग ऐसे भी होते थे जो कि पैदल चलकर लंबी दूरी की यात्रा पूरी कर लेते थे। उस समय ना तो कोई ट्रैफिक जाम का खतरा था और ना ही कोई गाड़ियों का शोर शराबा। प्रदूषण मुक्त वातावरण में रहना मानो किसी स्वर्ग के समान था। इतना मनमोहक वातावरण आज के समय में कहां देखने को मिलता है। आज हर जगह आपको गाड़ियों की भीड़ देखने को मिलेगी।

आज के इस रफ्तार भरे समय में आपको सड़कों पर चारों ओर गाड़ियां ही भागती हुई दिखेंगी। गाड़ियों से होने वाला प्रदूषण और उनका शोर शराबा बहुत ही अजीब लगता है। आज वाहन इतने ज्यादा हो गए हैं कि शायद सड़कें भी छोटी पड़ रही हैं। और तो और आज जितने ज्यादा वाहन बढ़े हैं उतनी ही सड़क दुर्घटनाएं भी बढ़ी हैं। आज आए दिन हमें रोड एक्सीडेंट की खबर सुनने को मिल जाती है।

प्रस्तावना

सड़क दुर्घटना में बहुत से लोग मारे जाते हैं। मासूम लोगों की जान चली जाती है। सड़क दुर्घटना से भारी नुकसान होता है। अधिकतर रोड एक्सीडेंट इसलिए होते हैं क्योंकि लोग ट्रैफिक नियम का पालन नहीं करते हैं। वह बहुत गलत तरीके से गाड़ी चलाते हैं। ऐसा करके वह अपनी और दूसरों की जिंदगी को जोखिम में डालते हैं। तो आज का हमारा विषय सड़क दुर्घटना पर आधारित है।

सड़क सुरक्षा क्या है?

सुरक्षा क्या होती है? जब हम किसी काम को अच्छे से करते हैं तो ऐसा करने से हम अनेक प्रकार की क्षति से बच जाते हैं। सड़क सुरक्षा भी यही है। सड़क सुरक्षा से तात्पर्य है एक ऐसी प्रकार सुरक्षा जहां हम सावधानीपूर्वक तरीके से गाड़ी चलाते हैं और अपने जीवन के साथ-साथ दूसरों के जीवन को भी सकुशल रखते हैं। जब हम सड़क सुरक्षा का ध्यान नहीं रखते हैं तो ऐसे में यह हमें हानि पहुंचाता है।

सड़क सुरक्षा का अच्छे से पालन करने से हमारा जीवन सुखमय बनता है। ऐसा करके हम बड़े से बड़े हादसों को टाल सकते हैं। और हम अपना जीवन बिना किसी चिंता के व्यतीत कर सकते हैं। सड़क सुरक्षा सभी को अपनानी चाहिए। आपने रोड पर देखा होगा कि वहां दो तरह के सिग्नल होते हैं एक होता है ग्रीन सिग्नल और एक लाल सिग्नल। हमें दोनों सिग्नल का पालन करना चाहिए। हमारी सड़कों पर पैदल यात्रियों के लिए रास्ता बना होता है। हमें उस रास्ते पर गाड़ी नहीं ले जानी चाहिए।

सड़क सुरक्षा की जरूरत

दुनियाभर में लाखों लोगों की मौतें होती हैं। हर किसी की मृत्यु कोई ना कोई बीमारी के चलते या किसी हादसे के चलते होना आम बात सी हो गई है। इनमें सड़क हादसे में होने वाली मौतें सबसे अधिक होती हैं। कितनी ही जान जाती हैं इन सड़क हादसों में, इसका हम अंदाजा तक नहीं लगा सकते हैं।

अभी का समय कुछ ऐसा है कि अधिकतर लोग बहुत तेजी से गाड़ी चलाना पसंद करते हैं। वह इतना भी नहीं सोचते हैं कि उनकी लापरवाही से गाड़ी चलाने के चक्कर में किसी मासूम की जिंदगी खतरे में पड़ जाएगी। लेकिन लोग तेज गाड़ी चलाने से बाज नहीं आते हैं। बहुत से ऐसे लोग भी होते हैं जो फोन का इस्तेमाल करते हुए गाड़ी चलाते हैं। यह भी सड़क दुर्घटना का एक बड़ा कारण बनता है। सड़क पर सुरक्षा को लेकर हम सभी को सचेत रहना चाहिए।

सड़क दुर्घटना का प्रमुख कारण क्या रहता है?

सड़क दुर्घटना आज के समय में एक आम समस्या बन गई है। आज बहुत से लोग सड़क हादसे का शिकार बन जाते हैं। सड़क हादसे बहुत से कारणों के चलते होते हैं-

(1) लापरवाह होकर वाहन चलाना- अक्सर सड़क हादसे का प्रमुख कारण वाहन चालकों की लापरवाही रहती है। बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो कि बहुत तेज गति से वाहन चलाते हैं। तेज गति से वाहन चलाने पर रोड एक्सीडेंट होने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।

(2) आपातकालीन सेवाओं का अभाव- बहुत बार ऐसा होता है जब सड़क हादसे का कारण आपातकालीन सेवाओं का अभाव बनता है। बहुत बार एम्बुलेंस की कमी के चलते सड़क हादसे में लोगों की मौत हो जाती है।

(3) खराब तबीयत- बहुत बार ऐसा होता है जब वाहन चालक की तबीयत सही नहीं होती है। तबीयत सही नहीं होने के चलते कई बार गाड़ी का संतुलन बिगड़ जाता है और सड़क दुर्घटना हो जाती है। कम नींद का होना भी सड़क हादसों को निमंत्रण देता है।

(4) खराब सड़कों का होना- सड़कों का खराब होना भी सड़क हादसे का कारण बनता है। सड़क पर गड्डे होने से गाड़ी उछलती है और अपना आपा खो देती है। इसकी वजह से सड़क हादसा हो जाता है।

(5) मोबाइल फोन का इस्तेमाल करना- बहुत बार ऐसा होता है कि जब हम मोबाइल फोन चलाते हैं तो हमारा ध्यान कहीं भटक जाता है। ध्यान भटकने के चलते ही हमारी गाड़ी दूसरी गाड़ी से टकरा जाती है और बड़ा हादसा हो जाता है।

सड़क हादसे से जुड़े तथ्य

(1) सड़क हादसों ने आज के समय में गंभीर रूप ले लिया है। आप यह सुनकर चौंक जाएंगे कि हमारे ही देश में तकरीबन लाखों की संख्या में लोग सड़क हादसों में अपनी जान गंवा देते हैं। हम सभी को सचेत होने की जरूरत है। क्योंकि यह संख्या बहुत ज्यादा है।

(2) हमारे देश में सबसे ज्यादा सड़क हादसों का शिकार कोई होता है तो वह है युवा वर्ग। युवा वर्ग के लोग बड़ी तेज़ गति के साथ गाड़ी चलाते हैं। और इसी के चलते ही सड़क हादसे हो जाते हैं।

(3) खराब सड़कें भी सड़क हादसों का कारण बन रही हैं।

(4) सबसे अधिक अगर कोई सड़क हादसों में मारे जाते हैं तो वह है दोपहिया वाहन के चालक। यही सबसे ज्यादा रोड एक्सिडेंट में मारे जाते हैं।

(5) मीडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार पूरी दुनिया में एक साल में लगभग 13 लाख लोग रोड एक्सिडेंट की भेंट चढ़ जाते हैं।

सड़क सुरक्षा के उपाय

  • सड़क सुरक्षा का सबसे अचूक उपाय है सावधानीपूर्वक होकर गाड़ी चलाना। जब वाहन चालक बढ़िया तरीके से गाड़ी चलाता है तो उसे हादसे का जोखिम कम लगने लग जाता है।
  • वाहन चालक को कभी भी नशे में धुत होकर गाड़ी नहीं चलानी चाहिए।
  • वाहन चाहे छोटा हो या फिर बड़ा हर वाहन में हैड लाइट होनी ही चाहिए।
  • वाहन चलाते समय हम सभी को यह ध्यान रखना चाहिए कि हम उस वक़्त मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना ही करें।
  • बहुत बार ऐसा होता है जब हम हेलमेट को नज़रअंदाज़ कर देते हैं। लेकिन यह सबसे बड़ी भूल होती है। बिना हेलमेट के गाड़ी चलाना जोखिमपूर्ण होता है।
  • यातायात नियमों का पालन करना भी बहुत जरूरी होता है।
  • चलती बस में चढ़ना हानिकारक साबित होता है। यह दुर्घटना होने की संभावना को बहुत अधिक बढ़ा देता है।

उपसंहार

आज के समय में भौतिकवाद ने लोगों की इच्छाओं को भी बहुत ज्यादा बढ़ा दिया है। आज हर किसी का यह सपना होता है कि वह वाहन खरीदे। लोगों की इन इच्छाओं के चलते ही आज वाहनों की संख्या बहुत अधिक बढ़ गई है। अब सड़क पर अनगिनत कार और बाइक दौड़ती हुई दिख जाएंगी। वाहनों की बढ़ती संख्या ने ही सड़क हादसे बहुत अधिक बढ़ा दिए हैं। हम सभी भारतीय नागरिकों को सड़क सुरक्षा को लेकर सचेत होना होगा। अगर हम अभी से इस बात पर गौर नहीं करेंगे तो आगे चलकर यह हमें बहुत तकलीफ देगा।

  1. सड़क सुरक्षा पर सभी लोगों को जागरूक करना बहुत ज्यादा जरूरी है। एक जागरूक व्यक्ति ही जागरूक नागरिक बन सकता है।
  2. जब हम वाहन चलाते हैं तो हमें अपना सारा ध्यान वाहन की गति पर ही केंद्रित करना चाहिए।
  3. जब कोई वाहन चालक बीमार हो तो तब उस हालत में उसे वाहन नहीं चलाना चाहिए।
  4. वाहन की नियमित जांच करवाना बहुत जरूरी है। ऐसा करने पर दुर्घटना की आशंका कम हो जाती है।
  5. दोपहिया वाहन चलाते समय हम सभी को हेलमेट का इस्तेमाल करना चाहिए।
  6. कार चलाते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करना चाहिए।
  7. आपातकालीन सेवाओं के अभाव के चलते भी लोगों की जान खतरे में पड़ जाती है।
  8. हम सभी को यह ध्यान रखना चाहिए कि हम कभी भी किशोरों को वाहन चलाने के लिए न दें।
  9. पैदल यात्रियों को दुर्घटना से बचने के लिए हमेशा फुटपाथ का ही प्रयोग करना चाहिए।
  10. ओवरटेक करना भी सड़क सुरक्षा के नियम के विरुद्ध है।
ये निबंध भी पढ़ें
प्रदूषण पर निबंध पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध
बसंत पंचमी पर निबंध वन महोत्सव पर निबंध

Leave a Reply