समय का सदुपयोग पर निबंध (Essay On Samay Ka Sadupyog In Hindi)

समय का सदुपयोग पर निबंध (Essay On Samay Ka Sadupyog In Hindi)- आपने कभी सोचा है या अपने आप से कभी सवाल किया है कि आपने अपना आज का पूरा एक दिन किस तरह से गुजारा या उस पूरे एक दिन के समय में आपने क्या किया या क्या नया सीखा? अगर आपका जवाब हाँ है तो भी और यदि ना है, तो फिर आपको ज़रूर जानना चाहिए कि समय का सदुपयोग कैसे करें? बेकार में समय को बर्बाद करने से अच्छा है कि आप अपने समय का सदुपयोग (Samay Ka Sadupyog) कुछ इस प्रकार से करें जिससे आपका और आपकी बुद्धि का विकास हो, आपके परिवार का विकास हो, आपके समाज का विकास हो, आपके राष्ट्र का विकास हो।

समय का सदुपयोग पर निबंध (Essay On Samay Ka Sadupyog In Hindi)

समय का सदुपयोग करना कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है, बस आपको अपनी सोचने की क्षमता को थोड़ा और बढ़ाना है। इतिहास भी इस बात का साक्षी है कि जिन लोगों ने अपना कीमती समय यूँ ही बर्बाद किया है फिर समय ने भी उन लोगों को बर्बाद करके ही छोड़ा है। इसीलिए आपको हमारा समय का सदुपयोग पर निबंध in hindi जरूर पढ़ना चाहिए, ताकि आप जान पाएं कि समय का सही इस्तेमाल कैसे किया जाए? हमारा यह समय का सदुपयोग पर आसान निबंध है। हिंदी में समय का सदुपयोग पर निबंध (Essay On Samay Ka Sadupyog In Hindi) पढ़ते समय आप जानेंगे कि एक काबिल और कामयाब इंसान के जीवन में समय का क्या महत्त्व होता है? Samay Ka Sadupyog Nibandh नीचे से पढ़ें।

इस बात से तो हम सभी वाक़िफ़ हैं कि एक बार गया समय फिर लौटकर कभी नहीं आता। इसीलिए अपने जीवन में हम सभी को समय का सदुपयोग को करना आना चाहिए। इसके लिए ज़रूरी है कि आप Samay Ka Sadupyog Par Nibandh पढ़ें। आप हमारे इस पेज से समय का सदुपयोग पर निबंध हिंदी में (Samay Ka Sadupyog Essay In Hindi) सरल, सहज और आसान भाषा में पढ़ सकते हैं। Samay Ka Sadupyog Nibandh In Hindi के साथ-साथ आप समय का सदुपयोग पर कविता, Samay Ka Sadupyog Anuched भी पढ़ सकते हैं। हमारा यह Samay Ka Sadupyog In Hindi Nibandh न केवल बड़े बल्कि छात्र भी पढ़ें और स्कूल और कॉलेज में होने वाले Samay Ka Sadupyog Essay Competition में भाग लें।

समय का सदुपयोग पर निबंध
(Samay Ka Sadupyog Essay In Hindi)

प्रस्तावना

इस संसार को रचने वाले ने हम सभी के साथ एक इंसाफ तो ज़रूर किया है और वो है सभी को एक बराबर का समय देकर। फिर चाहे कोई अमीर व्यक्ति हो और या गरीब व्यक्ति, समय सबके पास एक ही है, चौबीस घंटे। जो चौबीस घंटे मेरे पास हैं, वो ही चौबीस घंटे आपके पास हैं और वो ही चौबीस घंटे थे सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, अमिताभ बच्चन जैसे लोगों के पास जिसमें वह मेहनत करके और समय का सही सदुपयोग करके आज इस मुकाम पर पहुँचे हैं। अगर आप भी अपने जीवन में कुछ बनना चाहते हैं, तो सबसे पहले अपना लक्ष्य निर्धारित करें और समय का सदुपयोग करते हुए उसी के अनुरूप कार्य करें।

यह निबंध भी पढ़ें-

समय का सदुपयोग पर निबंधयहाँ से पढ़ें
समय का महत्व पर निबंधयहाँ से पढ़ें
समय प्रबंधन पर निबंधयहाँ से पढ़ें

समय का सदुपयोग कैसे करें?

हम सभी अपने-अपने जीवन में समय का उपयोग तो किसी-न-किसी प्रकार से कर ही रहे हैं लेकिन प्रश्न यह उठता है कि क्या हम अपने उसी समय का उपयोग सदुपयोग के रूप कर रहे हैं? अगर नहीं, तो फिर हम अपने समय का सदुपयोग कैसे करें? सबसे पहले हमें ये समझना होगा कि हमें अपने हर एक क्षण हर एक पल का सही उपयोग करना है। हमें अपने किसी भी पल को खाली नहीं जाने देना है। जीवन में वो इंसान ही सफलता हासिल करता है, जिसने अपने समय का सही उपयोग किया हो और अपना हर काम समय के अनुसार ही किया हो।

यदि हम अपने समय का दुरुपयोग करते हैं या समय व्यर्थ करते हैं, तो हम अपने जीवन में कभी खुश नहीं रह पाते और न ही जीवन में कभी कामयाब हो पाते हैं। समय के सदुपयोग की सबसे बड़ी सीख हमें प्रकृति से लेनी चाहिए। प्रकृति का हर काम समय पर होता है, जैसे- दिन और रात समय पर ही होते हैं और मौसम में अपने समय के हिसाब से ही बदलाव होता है। नीचे हमने कुछ बिंदु दिए हैं, जिन्हें पढ़कर आप जान सकते हैं कि समय का सदुपयोग कैसे करें?

  • सुबह जल्दी उठें- सबसे पहले अपने जीवन में सुबह जल्दी उठने का नियम बनाएं क्योंकि देर तक सोने वाले को कभी कुछ हासिल नहीं हुआ। रोज़ कसरत करें और नहा-धोकर समय पर नाश्ता करें।
  • आलस्य त्याग दें- एक आलसी व्यक्ति अपने जीवन में कभी कुछ नहीं कर सकता। इसीलिए आलस्य को छोड़ दें और काम में मन लगाएँ।
  • लक्ष्य निर्धारित करें- अपने जीवन में कुछ बनने का एक लक्ष्य तय करें और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए रोज़ उसपर मेहनत करें।
  • खाली न बैठें- एक कहावत है कि ‘खाली दिमाग शैतान का घर’। इसलिए खाली न बैठकर कुछ-न-कुछ काम करने की कोशिश करें।
  • किताबें पढ़ें- अधिक से अधिक किताबें पढ़नें की आदत अपने भीतर डालें क्योंकि आप जितना अध्ययन करेंगे आपको उतना ही अपनी अज्ञानता का पता चलेगा।
  • कुछ नया सीखें- अगर आप जल्दी किसी एक काम से ऊब जाते हैं, तो उससे हटकर कुछ नया सीखने की कोशिश करें क्योंकि सीखा हुआ कभी व्यर्थ नहीं जाता।

समय के सदुपयोग के लाभ

हम सभी को अपने समय के हर पल का सही दिशा में उपयोग करना चाहिए क्योंकि समय का सही इस्तेमाल करने वाले लोग ही अपने जीवन में सफल होते हैं। समय जीवन का वो चक्र है, जो हमारे लिए सफलता के कई अवसर लाता है, बस हमें उसे पहचान की ज़रूरत होती है। समय का सदुपयोग करके हम अपने हालातों को बदल सकते हैं। यदि हम बस समय का ही सदुपयोग कर लें, तो हम भी अपने जीवन में धनवान, सबल और विद्धवान बन सकते हैं। समय का सदुपयोग करने से हमें परम सुख, वैभव और आनंद मिलता है। समय का सदुपयोग करने से ही हमारी शारीरिक और मानसिक उन्नति का विकास होता है।

समय का सदुपयोग करने से पहले हमें अपने जीवन का लक्ष्य निर्धारित करना होगा और समय प्रबंधन करना सीखना होगा। हमें अपने काम के महत्व को समझते हुए एक निश्चित समय में उस काम को खत्म करने के बाद ही दूसरे काम की तरफ बढ़ना होगा। जो इंसान अपने समय को बर्बाद करता है, वो इस दुनिया का सबसे बड़ा मूर्ख कहलाता है। यदि हम समय का सदुपयोग नहीं करेंगे या समय के साथ नहीं चलेंगे, तो समय हमें पीछे छोड़कर आगे निकल जाएगा और हम वहीं के वहीं रह जाएंगे। जो मनुष्य आलस करता है, वो कभी भी समय के साथ-साथ नहीं चल पाता और अपना पूरा जीवन बेकार कर लेता है। अगर हम पहले से ही अपनी युवावस्था में समय के प्रति जागरूक और सजग रहेंगे, तो हमें बुढ़ापे में अफ़सोस करने या पछताने की ज़रूरत ही नहीं पड़ेगी। इतिहास इस बात का गवा है कि जो व्यक्ति समय के साथ नहीं चला है उसके हाथ सिर्फ नाकामयाबी ही आई है।

यदि हम सचमुच अपने जीवन में कुछ बड़ा करना चाहते हैं या सफल होना चाहते हैं, तो हमें समय की कदर करना सीखना होगा। अगर हम समय की कदर नहीं करेंगे, तो समय भी हमारी कदर कभी नहीं करेगा। हमें जीवन में जो समय मिला है उसका सदुपयोग करना ही हमारा प्रथम कर्तव्य है। जिस देश के लोग समय का सदुपयोग करते हों और जीवन में समय के महत्व को समझते हों, फिर उस देश के विकास और उन्नति को ऊंचाइयों पर पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता। ईश्वर ने तो हम सभी को एक समान समय देकर सभी के साथ न्याय किया है लेकिन अब ये हम पर है कि हम समय के साथ न्याय करते हैं या अन्याय। हमें एक बात हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए कि जीवन का हर क्षण अनमोल और कीमती है, जो तेज़ रफ़्तार से निकला जा रहा है। समय रहते अगर हम समय को पहचान जाते हैं और सफलता के पथ पर आगे बढ़ते रहते हैं, तो समय के सदुपयोग का इससे बड़ा लाभ जीवन में कुछ नहीं हो सकता।

जीवन में समय का महत्व

हम सभी के लिए जीवन में समय का महत्व समझना बहुत ज़रूरी है। अगर हम समय के महत्व को नहीं समझते, बातें करते रहते हैं, इधर-उधर घूमते रहते हैं, समय पर काम नहीं करते, तो हम जीवन की दौड़ में पीछे रह जाएंगे। हमारे ऐसे साथी जो जीवन में समय का महत्व समझते हैं और समय का सदुपयोग करते हैं, वो हमसे आगे निकल जाएंगे और जब समय सूखी रेत की तरह हमारे हाथ से फिसल जाएगा, तो हम हाथ मलते रह जाएंगे। हमें अपने बच्चों को बचपन से ही समय का महत्व बताते हुए उन्हें हर कार्य समय पर पूरा करना सिखाना चाहिए, जैसे सुबह समय पर स्कूल भेजना और समय पर अपनी कक्षा का कार्य पूरा करना। विद्यार्थियों को तो अपना एक मिनट भी गवाना नहीं चाहिए बल्कि समय नियोजन करके अपने सभी कार्य और दूसरी गतिविधियों को पूरा करना चाहिए।

धन से भी कई गुना शक्तिशाली समय है। अगर समय किसी भी इंसान को ऊँचा उठा सकता है, तो वह उसे एक पल में गिरा भी सकता है। हम न तो समय को पैदा कर सकते और न ही उसे रोक सकते हैं लेकिन समय का महत्व जानते हुए उसका सदुपयोग करके अपने समय को बदल ज़रूर सकते हैं। जो इंसान समयनिष्ठ होता है, वो हमेशा ही उन्नति ही राह पर चलता है। हमारी सभी आशाएं व इच्छाएं समय पर ही निर्भर करती हैं। इस दुनिया में परिवर्तन, जो संसार का नियम है, उसको छोड़कर और कुछ भी स्थाई नहीं है। समय सबसे बलशाली चीज़ है। वैसे तो ‘समय’ कितना छोटा सा शब्द है, लेकिन इसने पूरे ब्रह्मांड को अपने भीतर समेट रखा है।

हमारे जीवन में समय वो कीमती अमृत है, जिससे हम अपनी जिंदगी सवार भी सकते हैं और बिगाड़ भी सकते हैं। समय के चक्र से हम में से कोई भी नहीं बच सकता। दुनिया में जितने भी महापुरुष और सफल लोगों की गिनती होती है, उन्होंने हमेशा अपने समय का इस्तेमाल एक शानदार तरीके से किया है। इसी वजह से आज पूरी दुनिया में लोग उन्हें पहचानते हैं और अपनी प्रेरणा मानते हैं। अब ये हमारे ऊपर है कि हम उनसे प्रेरणा लेकर उनकी तरह बनना चाहते हैं या फिर समय नष्ट करके अपना जीवन बेकार करना चाहते हैं।

निष्कर्ष

स्वामी विवेकानंद जी ने कहा है कि “उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए।” जीना और मरना ये तो समय का खेल है लेकिन जिस इंसान ने समय के इस खेल को समझ लिया फिर उसे आबाद होने से कोई नहीं रोक सकता। हमें दुनिया की किसी भी चीज़ की तुलना समय से नहीं करनी चाहिए और समय का सदुपयोग करते हुए ही अपने जीवन में आगे बढ़ते रहना का प्रयास करना चाहिए।

समय का सदुपयोग पर निबंध 100 शब्द

समय एक ऐसी गाड़ी है जिसका पहिया हमेशा ही चलता रहता है लेकिन इसका ब्रेक कहाँ है, ये कोई नहीं जानता। जो वक्त एक बार निकल जाता है फिर वो दोबारा लौटकर कभी नहीं आता। समय का सही उपयोग करना सीखना ही हमारे जीवन की उन्नति की कुंजी है। अगर हम समय का सदुपयोग करना चाहते हैं, तो हमें अपने हर काम को करने का एक समय निर्धारित करना होगा। यदि हम अपने सारे काम समय पर कर लेंगे, तो हमारा जीवन सुख-शांति से बीतेगा और हमें कभी भी किसी के आगे पछताने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

समय बिल्कुल सूखी रेत की तरह से होता है, जो अगर एक बार हाथ से फिसलना शुरू होता है फिर वह फिसलता ही चला जाता है। फिसलते समय को पकड़ना पाना बहुत मुश्किल होता है, जिसके निकल जाने के बाद हमारे बस में कुछ नहीं रहता। तुलसीदास जी कहते हैं कि, ‘का वर्षा जब कृषि सुखानी’ यानी कि अगर खेती सूख ही गई है, तो फिर उसके बाद बारिश का कोई महत्व नहीं बचता है, क्योंकि खेती तो बेकार हो ही चुकी है। इसी तरह से समय निकलने के बाद यदि हमें अहसास होता है कि अब हम कुछ नहीं कर सकते, तो इसका कोई फायदा नहीं। इसीलिए हमेशा जीवन में अपने समय का सही सदुपयोग करें।

समय का सदुपयोग पर निबंध 200 शब्द

ये बात तो हम सभी जानते हैं कि समय सफलता की कुंजी है लेकिन हमारे जीवन की सफलता इस बात पर अधिक निर्भर करती है कि हम अपने समय का उपयोग किस प्रकार कर रहे हैं। समय तो बिना किसी की प्रतीक्षा करे लगातार अपनी रफ़्तार से चला जा रहा है। कोई राजा हो या फ़क़ीर समय ने कभी किसी का इंतजार नहीं किया। हमें हमेशा समय का सदुपयोग करना चाहिए, समयनिष्ठ व्यक्ति बनना चाहिए और अपने हर काम को समय के अनुसार ही करना चाहिए। समय को बर्बाद करना जीवन को बर्बाद करने जैसा होता है। कबीरदास जी कहते हैं कि “काल करै सो आज कर, आज करै सो अब पल में परलै होयेगी, बहुरी करेगा कब।” अर्थात् हमें अपने किसी भी काम को कल पर नहीं टालना चाहिए। बल्कि उसे आज ही पूरा करने की कोशिश करनी चाहिए।

अगर हम अपने किसी भी काम को टालते रहते हैं कि आज नहीं कल कर लेंगे, तो ऐसा करने से वह थोड़ा सा काम बहुत बढ़ जाएगा और एक समय ऐसा आएगा कि वो काम फिर कभी पूरा नहीं हो पाएगा। इसीलिए हमेशा समय का सदुपयोग करें क्योंकि समय का सही उपयोग करना किसी कीमती धन मिल जाने से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण है। समय का सदुपयोग करने की आदत हमें अपने होश संभालने के साथ ही डाल लेनी चाहिए। हमें अपने दैनिक कार्यों, जैसे- समय पर उठना, व्यायाम करना, नहाना, नाश्ता करना, स्कूल जाना, कार्य करना, पढ़ना, खेलना, सोना आदि सभी को नियमित समय के अनुरूप ही करना चाहिए। जो इंसान अपने समय का सही उपयोग करता है सफलता उस इंसान के हमेशा कदम चूमती है।  

समय का सदुपयोग पर निबंध 300 शब्द

जीवन की सफलता मेहनत के साथ-साथ समय के सदुपयोग पर भी निर्भर करती है। सफलता का रहस्य समय के सदुपयोग में ही छिपा हुआ है। निर्धन-धनवान, किसान-मजदूर, राजा-प्रजा, विद्वान-मूर्ख, आदि हर व्यक्ति को समय पर एक समान अधिकार मिला है। समय का सदुपयोग साधारण से साधारण व्यक्ति को भी महान बना देता है और समय का दुरुपयोग महान से महान व्यक्ति को भी साधारण बना देता है। दुनिया में जितने भी महान पुरुष हुए हैं या जिन्हें हम देखते हैं, उनके जीवन की सफलता का एकमात्र रहस्य समय का सदुपयोग ही रहा है। समय कैसा भी रहा हो, परिस्थितियाँ कुछ भी हों लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी और समय का सही उपयोग किया। ऐसे लोगों ने अपने बुरे समय को भी अच्छे समय में बदल दिया।

एक बहुत पुरानी कहावत है कि “समय कभी किसी का इन्तजार नहीं करता।” जिसका सीधा-सा अर्थ है कि हमारी हर सफलता, आशा और इच्छा समय पर ही निर्भर है। इसीलिए समय का सदुपयोग करना हम सभी के लिए बहुत ज़रूरी है। आलस को त्याग कर और उसी समय किसी भी काम को पूरा करना ही समय का सदुपयोग कहलाता है। बहुत से लोग होते हैं, जो अपने या किसी दूसरे के आज के काम को कल पर छोड़ देते हैं। ऐसे लोगों का काम न तो कभी पूरा होता है और न ही कभी सफल हो पाता है। फिर वो जीवनभर पछताते रहते हैं। लेकिन बाद में पछताने से कोई लाभ नहीं होता क्योंकि जब तक समय निकल चुका होता है। समझदार और बुद्धिमान व्यक्ति अपने हर पल का सही उपयोग करता है। वो कभी भी समय नष्ट नहीं करता।

ज्ञानी लोग अपने आराम के समय को भी बेकार नहीं जाने देते। वह चिंतन और अवलोकन करते रहते हैं। अज्ञानी अपना समय सोने में या इधर-उधर की बातों में बेकार कर देता है। वह न तो कभी समय के मूल्य को समझ पाते हैं और न ही जीवन को कभी गंभीरता से लेते हैं। लेकिन जो व्यक्ति समय का आदर करता है उसका समाज भी आदर करता है। तुलसीदास जी कहते हैं कि, “समय जात नहीं लागहिं बारा।” अर्थात् समय की गति बहुत तेज है इसलिए हर बुद्धिमान व्यक्ति को अपने समय का सही मूल्यांकन करते हुए उसका उचित ढंग से उपयोग करना चाहिए।  

समय का सदुपयोग पर 10 लाइन

1. एक बार गया समय फिर लौटकर कभी नहीं आता।

2. हम सभी को समय का सदुपयोग को करना चाहिए।

3. अमीर व्यक्ति हो और या गरीब व्यक्ति, समय सबके पास एक ही है। 

4. अपने हर क्षण का उपयोग करें। अपने किसी भी क्षण को खाली न जाने दें।

5. समय के सदुपयोग की सबसे बड़ी सीख हमें प्रकृति से लेनी चाहिए।

6. समय हमारे जीवन में सफलता के कई मौके लाता है। समय के सदुपयोग से व्यक्ति के हालात बदल जाते हैं।

7. समय का सदुपयोग करने वाले हर व्यक्ति को परम सुख, वैभव और आनंद प्राप्त होता है।

8. समय का सदुपयोग करने के लिए हमें हमारे लक्ष्य तय करने होंगे।

9. दुनिया में ऐसी कोई भी चीज नहीं है, जिसकी तुलना अनमोल समय से की जा सके।

10. समय को बर्बाद करना सबसे बड़ी मूर्खता है।

समय का सदुपयोग पर कविता

कविता 1

मैं सोचता हूँ सभी का समय कीमती रहा

सभी का अपना-अपना महत्व था

और सभी में अच्छी संभावनाएँ थीं ।

थोड़ी-सी रेत से भी भवनों का निर्माण हो जाता है

और सागर का सारा पानी दरअसल बूंद ही तो है ।

रास्ते के इन पत्थरों को

मैंने कभी ठुकराया नहीं था

इन्हें नहीं समझ पाने के कारण

इनसे ठोकर खाई थी

और वे बड़े-बड़े आलीशन महल

अपने ढहते स्वरूप में भी

आधुनिकता को चुनौती दे रहे हैं

और उनका ऐतिहासिक स्वरूप आज भी ज़िंदा है ।

– मैं सोचता हूँ / नरेश अग्रवाल

कविता 2

यदि हृदय से किया परिश्रम हो

मरुथल में फूल भी खिलता है,

समय चक्र जब चलता है

फल करनी का मिलता है।

व्यर्थ बैठकर यूँ ही तुमको

समय नहीं गंवाना है

लक्ष्य ठान कर अपना तुमको

आगे बढ़ते जाना है,

थमे नहीं राहों में कभी

मिलती तभी सफलता है

समय चक्र जब चलता है

फल करनी का मिलता है।

जीवन में चलता रहता

सुख-दुःख का आना-जाना

बनता वही महान है

जो इनसे हार न माना,

बाद अँधेरी रात सदा ही

प्रातः सूर्य निकलता है

समय चक्र जब चलता है

फल करनी का मिलता है।

भूत भविष्य की चिंता छोड़

आज पे अपना ध्यान करो

मिले सफलता उसकी खातिर

अर्जित पहले ज्ञान करो,

करते रहो प्रयास तो

इक दिन पर्वत भी हिलता है

समय चक्र जब चलता है

फल करनी का मिलता है।

यदि हृदय से किया परिश्रम हो

मरुथल में फूल भी खिलता है,

समय चक्र जब चलता है

फल करनी का मिलता है।

– अज्ञात

समय का सदुपयोग पर निबंंध पर अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ’s)

People also ask

प्रश्न 1- समय का सदुपयोग कैसे करें?

उत्तरः आपको एक समय पर एक ही कार्य करना चाहिए। खाली न बैठकर कुछ नया सीखने की कोशिश करनी चाहिए।

प्रश्न 2- समय का सदुपयोग करके हम क्या प्राप्त कर सकते हैं?

उत्तरः समय का सदुपयोग करके हम अपने जीवन में सुख और शांति प्राप्त कर सकते हैं।

प्रश्न 3- विद्यार्थी जीवन में समय का सदुपयोग कैसे करें?

उत्तरः विद्यार्थियों को अपना हर काम निर्धारित समय पर पूरा कर लेना चाहिए और बचे हुए समय का उपयोग दूसरे कामों करने और सीखने में करना चाहिए। विद्यार्थियों को अपने एक भी पल को यूंही नहीं गवाना चाहिए।

प्रश्न 4- समय के दुरुपयोग से सबसे बड़ी हानि क्या है?

उत्तरः समय के दुरुपयोग से सबसे बड़ी हानि है कि फिर वो समय कभी दोबारा लौटकर नहीं आएगा। अगर किसी दूसरी वस्तु की हानि होती है, तो उसकी भरपाई हो सकती है लेकिन समय की हानि की नहीं।

प्रश्न 5- समय का सदुपयोग करने से जीवन सफल होता है कैसे?

उत्तरः अगर हम अपना कोई भी काम समय पर पूरा करते हैं, तो वह काम अच्छे से भी होगा और वह सफल भी होगा। अपने हर कार्य को समय पर पूरा करने से और उस पर नियंत्रण करने से जीवन सफल होता चला जाता है।

प्रश्न 6- समय का सम्मान करना चाहिए क्यों?

उत्तरः समय का सम्मान और सही इस्तेमाल करने से हम उन सभी कार्यों के लिए भी समय निकालने में सक्षम हो जाते हैं, जिन्हें करना पहले हमारे लिए संभव नहीं था। यदि हम समय का सम्मान करेंगे, तो दुनिया भी हमारा सम्मान करेगी।

प्रश्न 7- समय को व्यर्थ क्यों नहीं करना चाहिए?

उत्तरः समय को व्यर्थ करने से हम अपना ही नुकसान करते हैं क्योंकि व्यक्ति कितना ही मेहनती क्यों न हो लेकिन समय पर कार्य न करने से उसकी मेहनत बेकार चली जाती है।

प्रश्न 8- कार्य पूरा न होने और समय बीत जाने पर हम क्या करते हैं?

उत्तरः कार्य पूरा न होने और समय बीत जाने पर हमारे पास पछताने के अलावा कुछ नहीं रह जाता। हम हाथ मलते रह जाते हैं। समय निकल जाने के बाद हम कुछ नहीं कर सकते।

प्रश्न 9- समय नियोजन का क्या अर्थ है?

उत्तरः अपने किसी भी काम को समय पर और सही ढंग से पूरा करना ही समय नियोजन कहलाता है। जो व्यक्ति समय नियोजन से अपना कार्य करता है, उसके सभी काम आसानी से होते चले जाते हैं। 

अन्य विषयों पर निबंध पढ़ने के लिएयहाँ क्लिक करें

2 thoughts on “समय का सदुपयोग पर निबंध (Essay On Samay Ka Sadupyog In Hindi)”

  1. समय किसी का सगा नही….

    समय ही रुलाये,
    समय ही हँसाये,
    समय जितना बलवान है|
    वो उतना ही धनवान है||

    समय ही हसीन,
    समय ही रंगीन,
    समय जितना परवान है|
    उसमे उतना ही संग्राम है||

    समय ही कारण,
    समय ही अकारण,
    समय जितना इर्द-गिर्द है|
    उसमे उतना ही दर्द है||

    समय ही खुबसूरत,
    समय ही बदसूरत,
    समय जितना सुन्दर है|
    उसमे उतना ही बवंडर है||

    समय ही विश्वास,
    समय ही अविश्वास,
    समय को जितना पाते है|
    उसमे उतना ही खोते है||
    🙏🙏💐💐

    लेखिका-दीपिका मोयल

    Reply
    • नमस्कार दीपिका, आपने बहुत अच्छा लिखा है। हमारी वेबसाइट पर इतना अच्छा कमेंट करने के लिए आपका आभार।

      Reply

Leave a Reply