डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 लाइन (10 Lines On Dr. Bhimrao Ambedkar In Hindi): दस लाइनों में पढ़ें अम्बेडकर के बारे में

Photo of author
PP Team

डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 लाइन (10 Lines On Dr. Bhimrao Ambedkar In Hindi)- हमारे देश को आज भी जात-पात, ऊंच-नीच, छूत-अछूत वाली बीमारी से जकड़ा हुआ है। हमने बाबा साहब अम्बेडकर द्वारा रचित संविधान को तो अपना लिया लेकिन हम उनकी समानता वाली सोच को अभी तक नहीं अपना सके हैं। डॉ. भीमराव अम्बेडकर का जन्म खुद एक महार जाति में हुआ था जिसे अछूत और नीचा माना जाता था। दलित और नीची जाति का होने की वजह से अम्बेडकर उन सभी सुख-सुविधाओं से वंचित रहे, जो सवर्ण और ऊंची जाति के लोगों को मिला करती थीं।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 लाइन (10 Lines On Dr. Bhimrao Ambedkar In Hindi)

छोटी और निचली जाति से आने वाले भीमराव ने डॉ. भीमराव अम्बेडकर और फिर बाबा साहब अम्बेडकर बनने तक का सफर बड़ी ही मुश्किलों से तय किया। अम्बेडकर उच्च शिक्षा ग्रहण करके स्वयं तो ऊंचे उठे ही साथ ही उन्होंने अपने समाज को भी ऊपर उठाया। एक बार गांधी जी ने अम्बेडकर से पूछा था कि ‘तुम इतनी रात को भी क्यों जाग रहे हो?’ गांधी जी के इस सवाल पर अम्बेडकर ने उत्तर दिया कि ‘रात-रातभर मैं इसलिए जागता हूं क्योंकि मेरा समाज सो रहा है।’ डॉ. भीमराव अम्बेडकर हमेशा से चाहते थे कि हमारे देश के प्रत्येक नागरिक को सफलता के समान अवसर मिलने चाहिए ताकि कोई भी व्यक्ति जीवन-यापन की मूलभूत सुविधाओं से वंचित न रहे। आप इस पोस्ट में दी गईं डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 लाइन (10 Lines On Dr. Bhimrao Ambedkar In Hindi) पढ़कर अम्बेडकर के बारे में जान सकते हैं।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 लाइनें

1. डॉ. भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल सन् 1891 को मध्य प्रदेश के महू में हुआ।

2. डॉ. भीमराव अम्बेडकर की माता का नाम भीमाबाई और पिता का नाम रामजी था।

3. डॉ. भीमराव अम्बेडकर का विवाह 16 साल की आयु में ही कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें

डॉ. भीमराव अम्बेडकर के विचारयहां से पढ़ें
डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 वाक्ययहां से पढ़ें
डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएंयहां से पढ़ें

4. डॉ. भीमराव अम्बेडकर को पढ़ाई से बहुत लगाव था। उन्होंने अपनी मेहनत से एल.एल.बी, एम.एस.सी, पी.एच.डी जैसी कई बड़ी डिग्रियां प्राप्त कीं।

5. डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने अमेरिका की कोलम्बिया यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट की उपाधि हासिल की।

6. डॉ. भीमराव अम्बेडकर लंदन भी गए और वहां से वह वकालत की पढ़ाई करके भारत लौटे।

7. डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने आजीवन दलितों को उनका हक और समानता दिलवाने के लिए संघर्ष किया।

8. डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने अकेले ही भारत का संविधान लिखा जो विश्व का सबसे लंबा लिखित संविधान है।

9. डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने 6 दिसंबर 1956 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

10. भारत सरकार ने 14 अप्रैल 1990 को मरणोपरांत बाबा साहब अम्बेडकर को भारत रत्न से सम्मानित किया।

हमारे द्वारा लिखी गईं डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर 10 लाइनें आपको कैसी लगीं? हमें अपना बहमूल्य कमेंट ज़रूर साझा करें। इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।

अन्य किसी विषय पर 10 लाइनें पढ़ने के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Reply