डीएलएड एडमिशन 2024 (DElEd Admission 2024): पूरी एडमिशन प्रक्रिया

Photo of author
PP Team

डीएलएड एडमिशन 2024 (D.El.Ed Admission 2024)- अगर आपकी रुचि टीचिंग लाइन में है और भविष्य में आप डीएलएड कोर्स (D.El.Ed Course) करके टीचर बनना चाहते हैं, तो ये आर्टिकल आपके लिए है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको डी. एल. एड. की पूरी जानकारी देंगे। हम आपको बताएंगे कि डीएलएड क्या है (deled kya hai), डीएलएड का फुल फॉर्म (deled full form), डीएलएड कैसे करें, deled admission कैसे लें, डी एल एड की फीस कितनी है (deled course fees), डी एल एड के लिए योग्यता, deled syllabus आदि। इन सभी जानकारी के बाद आप समझ पाएंगे कि d e l e d kya hota hai और टीचर बनने में इस कोर्स का कितना महत्व है।

डीएलएड (D.El.Ed)

डीएलएड एक ऐसा कोर्स है जिसे करने के बाद आप अपना टीचर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं और किसी सरकारी या प्राइवेट स्कूल में शिक्षक बनकर पढ़ा सकते हैं। बीएड (B.Ed) की तरह डीएलएड (D.El.Ed) भी काफी लोकप्रिय कोर्स है, जो आपको टीचर बनने का अवसर प्रदान करता है। डीएलएड एडमिशन (d el ed admission) से पहले आपको deled course details पता होनी चाहिए और deled info भी होनी चाहिए। d el ed in hindi में पूरी जानकारी नीचे से पढ़ें।

डीएलएड क्या है? (What Is Deled Course? In Hindi)

डीएलएड कोर्स एक डिप्लोमा कोर्स है। यह कोर्स टीचर बनने के लिए किया जाता है। अगर आप भी टीचर बनना चाहते हैं, तो इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। डीएलएड कोर्स प्राथमिक स्तर पर टीचर बनने का कोर्स होता है। यह कोर्स दो साल का होता है। आसान भाषा में इसे समझें तो डीएलएड दो साल का डिप्लोमा कोर्स है, जिसे पूरा करने के बाद आप टीचर बनने के योग्य हो जाते हैं। डीएलएड कोर्स को करने के बाद और टीईटी (TET) और सीटीईटी (CTET) एग्जाम पास करने के बाद आप किसी भी सरकारी और प्राइवेट स्कूल में प्राइमरी टीचर की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

ये आर्टिकल भी पढ़ें

बीएड (B.Ed) की पूरी जानकारीयहाँ से पढ़ें
सीटीईटी (CTET) के बारे मेंयहाँ से पढ़ें
टीईटी (TET) परीक्षा के बारे मेंयहाँ से पढ़ें
टीचर बनने की तैयारी कैसे करें?यहाँ से पढ़ें

डीएलएड फुल फॉर्म (Deled Full Form In Hindi)

डीएलएड की फुल फॉर्म- “डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन” (Diploma In Elementary Education)

डीएलएड के लिए योग्यता (D.El.Ed Eligiblity In Hindi)

डीएलएड कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको निम्नलिखित योग्यता मापदंडों को पूरा करना ज़रूरी है-

  • शैक्षिक योग्यता
    • उम्मीदवार को साइंस, कॉमर्स और आर्ट्स किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास होना ज़रूरी है।
    • 12वीं में 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए।
  • आयु सीमा
    • उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए।
    • उम्मीदवार की अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए।

डीएलएड कैसे करें? (How To Do D.El.Ed? In Hindi)

अगर आप डीएलएड कोर्स करके टीचिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो आपको इस कोर्स को करने के लिए सबसे पहले ऊपर बताई गई योग्यता को पूरा करना होगा। आपको बता दें कि डीएलएड कोर्स में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम और मेरिट लिस्ट दो तरीकों से होता है। हमारे देश के अधिकतर सभी राज्यों के सरकारी कॉलेजों से डीएलएड करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है और वहीं प्राइवेट कॉलेजों में डीएलएड कोर्स में एडमिशन 12वीं के अंकों और मेरिट के आधार पर होता है। डीएलएड कोर्स में एडमिशन की चयन प्रक्रिया राज्यों और उनके कॉलेजों पर निर्भर करती है। डीएलएड कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले आवेदन करना होगा और प्रवेश परीक्षा को पास करना होगा। प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद मेरिट के आधार पर आपको एडमिशन दिया जाएगा। कई ऐसे प्राइवेट कॉलेज भी हैं, जहाँ से बारहवीं के नंबर के आधार पर आप एडमिशन लेकर डीएलएड कर सकते हैं।

डीएलएड की फीस (D.El.Ed Fees In Hindi)

डीएलएड की फीस राज्य और उसके कॉलेज पर निर्भर करती है। सरकारी कॉलेज और प्राइवेट कॉलेज दोनों में फीस अलग-अलग होती है। सरकारी कॉलेज के मुकाबले प्राइवेट कॉलेज में डीएलएड कोर्स की फीस ज़्यादा होती है। अगर आप डीएलएड कोर्स किसी सरकारी कॉलेज से करते हैं, तो आपको प्रतिवर्ष दस से बीस हजार रुपये तक फीस देनी होगी और अगर आप इसी कोर्स को किसी प्राइवेट कॉलेज से करते हैं, तो आपको प्रतिवर्ष चालीस से पचास हजार रुपये तक फीस देनी होगी। किसी-किसी कॉलेज में डीएलएड की फीस प्रति सेमेस्टर भी होती है।

डीएलएड कोर्स अवधि (D.El.Ed Course Duration In Hindi)

डीएलएड कोर्स को पूरा होने में कुल दो साल का समय लगता है। इन दो सालों को चार सेमेस्टर में बांट दिया जाता है और टीचिंग से जुड़े विषयों को पढ़ाया और समझाया जाता है। इस दौरान आपको टीचर बनने की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है। डीएलएड कोर्स मुख्य रूप से प्राइमरी स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए करवाया जाता, क्योंकि छोटे बच्चों को पढ़ाना बहुत मुश्किल काम होता है। इसीलिए प्राइमरी स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए डीएलएड किया जाता है। डीएलएड कोर्स पूरा होने के बाद आप प्राइमरी टीचर की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

डीएलएड सिलेबस (D.El.Ed Syllabus In Hindi)

जैसा कि हमने आपको बताया कि डीएलएड कोर्स दो साल का होता है और इन दो सालों में आपको प्राइमरी स्कूल के बच्चों को पढ़ाने की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के साथ-साथ आपको थियरी क्लासेज़ भी दी जाती हैं। डीएलएड कोर्स के दौरान डीएलएड कोर्स सिलेबस (deled course syllabus) में निम्नलिखित विषय शामिल होते हैं, जैसे-

  1. बाल विकास एवं सीखने की प्रक्रिया
  2. भारतीय समाज और प्रारंभिक शिक्षा
  3. प्रारंभिक शिक्षा के नवीन प्रयास
  4. शिक्षण अधिगम के सिद्धांत
  5. शैक्षिक मूल्यांकन क्रियात्मक शोध एवं नवाचार
  6. समावेशी शिक्षा
  7. आरंभिक स्तर पर भाषा के पठन लेखन एवं गणितीय क्षमता का विकास
  8. शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशासन
  9. शांति शिक्षा एवं सतत विकास
  10. स्कूल स्वास्थ्य और शिक्षा
  11. सामाजिक अध्ययन
  12. संस्कृत
  13. हिंदी
  14. गणित
  15. विज्ञान
  16. कंप्यूटर
  17. कला
  18. संगीत
  19. शारीरिक शिक्षा
  20. इंटर्नशिप

नोट- डीएलएड सिलेबस कॉलेज के हिसाब से अलग भी हो सकता है।

डीएलएड कॉलेज (D.El.Ed College)

College NameLocation
Indira Gandhi National Open University New Delhi
Jamia Millia Islamia University New Delhi
Choudhary Charan Singh University Meerut, UP
Chatrapati Sahuji Maharaj Kanpur University Kanpur, UP
Dr. Bhim Rao Ambedkar University Etah, UP
University Of LucknowLucknow, UP
Mahatma Gandhi Kashi Vidyapeeth Varanasi, UP
Uttar Pradesh Technical UniversityLucknow, UP
Barkatullah University Bhopal, MP
Devi Ahilya Vishwavidyalaya Indore, MP
Maharaja Chhatrasal Bundelkhand University Panna, MP
Devi Ahilya VishwavidyalayaIndore, MP
Kota University Sawai Madhopur, Rajasthan
Maharishi Dayanand Saraswati University Ajmer, Rajasthan
University of Rajasthan Jaipur, Rajasthan

सभी राज्यों के डीएलएड एडमिशन (All States D.El.Ed Admission)

राज्यडीएलएड एडमिशन
दिल्लीदिल्ली डाइट एडमिशन
उत्तर प्रदेश यूपी डीएलएड एडमिशन
हरियाणा हरियाणा डीएलएड एडमिशन
बिहार बिहार डीएलएड एडमिशन
मध्य प्रदेशएमपी डीएलएड एडमिशन
हिमाचल प्रदेशएचपी डीएलएड एडमिशन
राजस्थानराजस्थान बीएसटीसी
छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ डीएलएड एडमिशन
उत्तराखंडउत्तराखंड डीएलएड एडमिशन
FAQs
प्रश्न- डीएलएड करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

उत्तरः डीएलएड करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट स्कूल टीचर की नौकरी कर सकते हैं।

प्रश्न- डीएलएड में कौन कौन से विषय होते हैं?

उत्तरः डीएलएड में हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान आदि कई विषय होते हैं।

प्रश्न- डीएलएड करने से क्या फायदा है?

उत्तरः डीएलएड करने से आप प्राइमरी टीचर बन सकते हैं।

प्रश्न- Deled कितने साल का होता है?

उत्तरः डीएलएड की अवथि कुल दो साल की होती है।

प्रश्न- B ED और D El ED में क्या अंतर है?

उत्तरः बीएड दो साल का प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है और डीएलएड दो साल का डिप्लोमा कोर्स है। लेकिन दोनों कोर्स टीचर बनने की ट्रेनिंग के लिए ही करवाये जाते हैं।

प्रश्न- क्या NIOS D El ED सरकारी नौकरी के लिए मान्य है?

उत्तरः हाँ।

प्रश्न- DElEd करने के लिए कितने परसेंट चाहिए?

उत्तरः डीएलएड करने के लिए कम से कम बारहवीं कक्षा में पचास प्रतिशत अंक चाहिए।

प्रश्न- डीएलएड में एडमिशन कैसे लें?

उत्तरः डीएलएड में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले आवेदन करना होगा। उसके बाद प्रवेश परीक्षा होगी और मेरिट लिस्ट निकाली जाएगी।

प्रश्न- डीएलएड के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

उत्तरः डीएलएड के लिए आपकी न्यूनतम योग्यता 12वीं पास होनी चाहिए।

प्रश्न- डीएलएड कौन सा कोर्स होता है?

उत्तरः डीएलएड यानी कि डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन कोर्स होता है। ये दो साल का टीचिंग में डिप्लोमा कोर्स होता है, जिसमें 4 सेमेस्टर शामिल होते हैं।

अन्य कोर्स में एडमिशन के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Reply