टीईटी/टेट (TET): शिक्षक पात्रता परीक्षा (Teacher Eligibility Test) की पूरी जानकारी

Photo of author
Shubham Gupta

टीईटी/टेट (TET)- बहुत से लोगों का सपना होता है कि वो एक सरकारी टीचर (Government Teacher) बने और अध्यापन के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाएँ। टीचर बनने के लिए वह अलग-अलग कोर्स करते हैं और कई तरह की शिक्षक भर्ती परीक्षाओं में भी शामिल होते हैं। आपको बता दें कि शिक्षक पात्रता परीक्षा (Teacher Eligibility Test) भी सरकारी शिक्षक भर्ती के लिए आयोजित होने वाली एक परीक्षा है। टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) का आयोजन देश के लगभग सभी राज्यों में करवाया जाता है। जो उम्मीदवार टीईटी परीक्षा (TET Exam) पास कर लेते हैं, वो अपने राज्य में सरकारी टीचर की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

टीईटी/टेट (TET)

अगर आपका सपना भी सरकारी शिक्षक बन कर ज्ञान बांटने का है और आप भी टीईटी एग्जाम में शामिल होना चाहते हैं, तो आप हमारे इस पेज से टीईटी परीक्षा से जुड़ी सभी जानकारी जैसे- टीईटी या टेट क्या है, सुपर टेट क्या है, टीईटी फुल फॉर्म (TET Full Form), टीईटी पात्रता योग्यता, टीईटी में पूछे जाने वाले प्रश्न, टेट सिलेबस (TET Syllabus), शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए अधिकतम आयु सीमा आदि प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारे इस पेज से सभी राज्यों में होने वाले टीईटी एग्जाम की लिस्ट भी प्राप्त कर सकते हैं। टेट परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको Syllabus of TET Exam से ही तैयारी करनी होगी। टेट की परीक्षा की जानकारी होने पर आप अपने राज्य में होने वाली टेट परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

हमारे देश के सरकारी स्कूलों (Government Schools) में शिक्षकों की भर्ती से पहले उनकी योग्यता तय करने के लिए टीईटी (TET) एग्जाम करवाया जाता है। शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) में बैठने के लिए कुछ आवश्यक न्यूनतम योग्यता भी निर्धारित की गई है। भारत के सरकारी विद्यालयों में टीचर की नौकरी प्राप्त के लिए यह एग्जाम पास करना ज़रूरी है। TET परीक्षा भारत की केंद्र और राज्य दोनों सरकारों द्वारा आयोजित की जाती हैं। अधिकतर राज्य अपनी खुद की टीईटी परीक्षा का आयोजन करते हैं। यह परीक्षा बच्चों के नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा के अधिकार अधिनियम, 2002 के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए आयोजित की जाती है। टीईटी सर्टिफिकेट हमेशा के लिए वैलिड है। टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (टीईटी) की शुरुआत भारत सरकार द्वारा सन् 2011 में शिक्षण में मानकों में सुधार के लिए की गई थी। कक्षा 1 से 8 तक का सरकारी शिक्षक बनने के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य है।

टीईटी या टेट क्या है? (What is TET? in Hindi)

शिक्षक पात्रता परीक्षा जिसे टीईटी या टेट (TET) भी कहा जाता है एक पात्रता परीक्षा (Eligiblity Exam) है, जो हर साल सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए करवाई जाती है। शिक्षा के क्षेत्र में सुधार लाने के लिए सरकार ने शिक्षकों की भर्ती करने के लिए टेट एग्जाम का आयोजन किया। राज्य सरकारों द्वारा TET Exam और केंद्र सरकार द्वारा CTET Exam का आयोजन किया जाता है। जो उम्मीदवार यह एग्जाम पास कर लेते हैं, वो सरकारी स्कूलों में शिक्षक की भर्ती के लिए योग्य माने जाते हैं और नियुक्त किये जाते हैं।

टीईटी एग्जाम का संचालन हर स्टेट के प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड द्वारा किया जाता है। TET एग्जाम पास करने के पश्चात उम्मीदवार को कक्षा 1 से 5 तक के लिए प्राथमिक शिक्षक (प्राइमरी टीचर) और कक्षा 6 से 8 तक के लिए उच्च प्राथमिक शिक्षक (अपर प्राइमरी टीचर) की नियुक्ति का पात्रता प्रमाण पत्र (एलिजिबिलिटी सर्टिफिकेट) प्रदान किया जाता है। टीईटी एग्जाम में दो पेपर होते हैं। पेपर 1 प्राइमरी टीचर (Primary Teacher) के लिए और पेपर 2 अपर प्राइमरी टीचर (Upper Primary Teacher) के लिए होता है। योग्य उम्मीदवार किसी एक पेपर या फिर दोनों पेपर में भी शामिल हो सकते हैं। जो कैंडिडेट्स TET Exam में पास हो जाते हैं, वो राज्य सरकारों द्वारा सरकारी स्कूलों में निकाली गई शिक्षक की भर्ती के लिए चुने जाते हैं।

सुपर टेट क्या है? (What is Super TET? in Hindi)

सरकारी टीचर बनने की चाह रखने वाले उम्मीदवारों को बता दें कि सुपर टेट एग्जाम शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी/टेट) का ही एक दूसरा स्टेप है। सुपर टेट (Super TET) परीक्षा की शुरुआत सबसे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने की थी, जिसका मकसद है कि सरकारी स्कूलों में योग्य और काबिल सरकारी शिक्षकों की भर्ती हो सके। यूपी में पहले सिर्फ टीईटी एग्जाम के आधार पर ही शिक्षकों की नियुक्ति की जाती थी लेकिन जैसे-जैसे प्रतियोगिता मुश्किल होती गई, तो यूपी सरकार (UP Government) ने टीईटी यानी टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट पास करने के बाद सुपर टेट या सुपर टीईटी (Super TET) नाम की एक और परीक्षा पास करने का नियम जारी कर दिया। इस परीक्षा को ही सुपर टेट परीक्षा (Super TET Exam) कहा जाता है। उत्तर प्रदेश में अब सरकारी टीचर की भर्ती के लिए यूपी टीईटी (UP TET), सीटेट (CTET) के साथ-साथ सुपर टेट एग्जाम भी पास करना अनिवार्य कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें-

सीटीईटी (CTET) के बारे मेंयहाँ से पढ़ें

टीईटी फुल फॉर्म (TET Full Form in Hindi)

हिंदी में टीईटी या टेट का पूरा नाम “शिक्षक पात्रता परीक्षा” होता है और इंग्लिश में टीईटी की फुल फॉर्म “टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट” (Teacher Eligibility Test) होती है।

टीईटी पात्रता योग्यता (TET Eligibility Qualification in Hindi)

शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) के लिए योग्यता मापदंड निम्नलिखित हैं-

प्राथमिक शिक्षक (Primary Teacher) कक्षा 1 से 5 तक के लिए उच्च प्राथमिक शिक्षक (Upper Primary Teacher) कक्षा 6 से 8 तक के लिए
उम्मीदवार को 12वीं पास होना चाहिए। उम्मीदवार को 12वीं पास होना चाहिए।
12वीं कक्षा में 50% अंक प्राप्त होने चाहिए।12वीं कक्षा में 50% अंक प्राप्त होने चाहिए।
प्राथमिक शिक्षा में दो साल का डिप्लोमा होना चाहिए। दो साल का डीएलएड कोर्स कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए।
उम्मीदवार ग्रेजुएशन या बीएड के अंतिम साल में शामिल हो या फिर पास होना चाहिए। ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी हो और बीएड के अंतिम साल में शामिल हो या फिर पास होना चाहिए।
सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों की आयु 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए। सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों की आयु 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए।
एससी/एसटी उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 वर्ष और दिव्यांग उम्मीदवारों को 10 वर्ष की छूट प्रदान की जाएगीएससी/एसटी उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 वर्ष और दिव्यांग उम्मीदवारों को 10 वर्ष की छूट प्रदान की जाएगी

टेट सिलेबस (TET Syllabus in Hindi)

टीईटी सिलेबस पेपर 1

  1. बाल विकास और शिक्षण विधियां
  2. भाषा
  3. भाषा-2
  4. गणित
  5. पर्यावरणीय अध्ययन

टीईटी सिलेबस पेपर 2

  1. बाल विकास और अध्यापन
  2. भाषा – 1
  3. भाषा – 2
  4. विज्ञान एवं गणित या
  5. सामाजिक विज्ञान

ये भी पढ़ें-

टीचर बनने की तैयारी कैसे करें? यहाँ से पढ़ें

सभी राज्यों की टीईटी परीक्षा की सूची (All States TET Exam List in Hindi)

राज्यटीईटी
उत्तर प्रदेशयूपी टीईटी
बिहार बिहार टीईटी
बिहार एसटीईटी
हरियाणा हरियाणा टीईटी
मध्य प्रदेशएमपी टीईटी
हिमाचल प्रदेश एचपी टीईटी
उत्तराखंड उत्तराखंड टीईटी
छत्तीसगढ़ सीजी टीईटी
झारखंडझारखंड टीईटी
राजस्थानराजस्थान रीट
केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षासीटीईटी

FAQs

प्रश्न- टीईटी का क्या मतलब होता है?
उत्तर- टीईटी का मतलब शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी कि शिक्षकों की भर्ती के लिए एक प्रवेश परीक्षा है, जिसे भारत में केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा आयोजित किया जाता है।

प्रश्न- टीईटी कितने साल का होता है?
उत्तर- आपको बता दें कि प्रतिवर्ष केंद्र सरकार या राज्य सरकारों द्वारा आयोजित होने वाली टीईटी परीक्षाओं में लाखों उम्मीदवार बैठते हैं। टीईटी प्रमाण पत्र अब जीवन भर के लिए वैध है।

प्रश्न- टीईटी कैसे करें?
उत्तर- टीईटी एग्जाम (TET Exam) में शामिल होने के लिए अपनी योग्यता के आधार पर सबसे पहले आवेदन करें और परीक्षा की तैयारी पूरी मेहनत और ईमानदारी के साथ करें।

प्रश्न- टीईटी और सीटीईटी में क्या अंतर है?
उत्तर- टीईटी और सीटीईटी दोनों ही परीक्षाओं में मूल अंतर यह है कि TET परीक्षा का आयोजन सरकार के स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए किया जाता है और CTET परीक्षा का आयोजन केंद्र सरकार के स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए किया जाता है।

अन्य सरकारी नौकरी के लिए यहाँ क्लिक करें

10 thoughts on “टीईटी/टेट (TET): शिक्षक पात्रता परीक्षा (Teacher Eligibility Test) की पूरी जानकारी”

  1. मेरा बीएड कंप्लीट होने वाला है और मेर रिजल्ट जल्दी से जल्दी आ जाएगा मुझे सीटेट की जानकारी अवश्य दें मेरे 97948392

    Reply
  2. Isc. me mera 47 percent hai aur Bsc.me mera 61.5 percent hai B.ed 1st year exam de rahe hai abhi kiya hum tet exam de sakte hai.

    Reply
    • उम्मीदवार जिन्होंने कम से कम 50% अंकों के साथ स्नातक उत्तीर्ण किया है और बी.एड के प्रथम वर्ष में उपस्थित हो रहे हैं या उत्तीर्ण हैं। वो उम्मीदवार टीईटी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

      Reply

Leave a Comment