Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

तत्व क्या है? (Tatva Kya Hai) तत्व की परिभाषा, तत्व का अर्थ पूरी जानकारी

Photo of author
PP Team
Published on

तत्व क्या है? (What Is Element? In Hindi)- आज हम सभी पाठक को इस आर्टिकल के माध्यम से साधारण भाषा में समझायेंगे कि तत्व क्या है? इसके अलावा हम तत्व की परिभाषा भी बतायेंगे। तत्व उन शुद्ध पदाथों को कहते हैं जो सिर्फ एक प्रकार के परमाणुओं से बने होते हैं जैसे, हाइड्रोजन, सिलिकॉन, कार्बन और ऑक्सीजन आदि। तत्व एक ऐसा पदार्थ होता है जिसके परमाणुओं में प्रोटोन की संख्या समान होती है। सभी रासायनिक पदार्थ तत्वों से ही मिलकर बने होते हैं। तत्व क्या है, अभी तक आप काफी कुछ समझ चुके होंगे। तत्व क्या है उसके बारे में अधिक जानने के लिए पूरा आर्टिकल पढ़ें।

तत्व के रासायनिक सूत्र और परमाणु

तत्व के रासायनिक सूत्र– रासायनिक रूप में तत्व सबसे सरल पदार्थ होता है। इसलिए इन्हें किसी भी रासायनिक प्रतिक्रियाओं द्वारा तोड़ा नहीं जा सकता है। किसी तत्व के परमाणुओं में प्रोटोन की संख्या समान होती है पर उनमें न्यूट्रॉन की संख्या अलग-अलग हो सकती है जिस कारण उनके द्रव्यमान भी अलग-अलग होते हैं। किसी तत्व के परमाणुओं में न्यूट्रॉन की संख्या अलग होने की स्थिति का आइसोटोप कहा जाता है।

तत्वों के नाम और सूत्र

तत्वों के नाम और सूत्र– वर्तमान समय में तत्वों के नाम कुल 118 हैं। अभी तक 118 तत्वों की खोज की जा चुकी है। जिसमें से 94 तत्व पृथ्वी पर ही प्राकृतिक रूप से मौजूद हैं। तत्व के रासायनिक सूत्र में हम आपको पहले ही बता चुके हैं। रासायनिक तत्वों में हाइड्रोजन सबसे सरल और सबसे हल्का तत्व है। क्योंकि इसमें प्रोटोन की संख्या सिर्फ एक होती है।

सभी तत्वों में हाइड्रोजन (75%) ब्रह्मांड में सबसे अधिक मात्रा में मौजूद है। हिलियम (23%) पर दूसरा सबसे अधिक मात्रा में मौजूद तत्व है। फिर 1 प्रतिशत ऑक्सीजन पाया जाता है। अगर पृथ्वी की ओजोन परत की बात करें, तो (47%) के साथ ऑक्सीजन सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है। 28 प्रतिशत सिलिकॉन और 8 प्रतिशत एल्युमिनियम पाया जाता है।

तत्वों के नाम और संकेत

तत्वों के नाम और संकेत पाठक नीचे टेबल के माध्यम से समझ सकते हैं। हमने ऊपर आपको बताया कि तत्वों के नाम 118 हैं। आप नीचे तत्व के नाम और संकेत हिंदी / अंग्रेजी में देख सकते हैं।

तत्वों की सूची

परमाणु संख्या तत्व के नाम तत्वों के संकेत
1हाइड्रोजन (H)
2हीलियम (He)
3लीथियम (Li)
4बेरेलियम (Be)
5बोरॉन (B)
6कार्बन (C)
7नाइट्रोजन (N)
8ऑक्सीजन (O)
9फ्लोरीन (F)
10नियॉन (Ne)
11सोडियम(Na)
12मैग्नीशियम(Mg)
13अल्युमिनियम(Al)
14सिलिकॉन (Si)
15फॉस्फोरस(p)
16सल्फर(S)
17क्लोरीन(Cl)
18ऑर्गन (Ar)
19पोटैशियम(k)
20कैल्सियम (Ca)
21स्कैण्डियम(Sc)
22टाइटेनियम(Ti)
23वनेडियम(V)
24क्रोमियम (Cr)
25मैंगनीज़ (Mn)
26आइरन (Fe)
27कोबाल्ट(Co)
28निकल (Ni)
29कॉपर(Cu)
30जिंक(Zn)
31गैलियम(Ga)
32जर्मेनियम (Ge)
33आर्सेनिक(As)
34सेलेनियम(Se)
35ब्रोमीन(Br)
36क्रिप्टॉन(Kr)
37रुबिडियम(Rb)
38स्ट्रोन्शियम(Sr)
39वाईटरियम(Y)
40ज़र्कोनियम(Zr)
41नायोबियम (Nb)
42मॉलीब्डेनम(Mo)
43टेक्निशियम (Tc)
44रूथेनियम(Ru)
45रोह्डियम(Rh)
46पैलेडियम(Pd)
47सिल्वर (Ag)
48कैडमियम(Cd)
49इण्डियम(In)
50टिन(Sn)
51ऐन्टिमोनी(Sb)
52टेल्यूरियम (Te)
53आयोडीन (I)
54जेनॉन(Xe)
55सीज़ियम(Cs)
56बेरियम(Ba)
57लैन्थेनम(La)
58सीरियम(Ce)
59प्रसियोडाइमियम(Pr)
60नियोडाइमियम(Nd)
61प्रोमेथियम(Pm)
62समेरियम (Sm)
63युरोपियम(Eu)
64गेडोलिनियम(Gd)
65टर्बियम(Tb)
66डिसप्रोसियम (Dy)
67होल्मियम(Ho)
68इरबियम (Er)
69थुलियम(Tm)
70वाईटर्बियम(Yb)
71लुटीशियम(Lu)
72हाफ्नियम(HF)
73टेन्टेलम(Ta)
74टंगस्टन (W)
75रीनियम(Re)
76ओस्मियम(Os)
77इरीडियम(Ir)
78प्लैटिनम(pt)
79गोल्ड(Au)
80मरकरी(Hg)
81थैलियम(Ti)
82लेड(Pb)
83बिस्मथ (Bi)
84पोलोनियम(Po)
85एस्टेटाइन(At)
86रेडॉन(Rn)
87फ्रैंसियम(Fr)
88रेडियम(Ra)
89ऐक्टिनियम(Ac)
90थोरियम(Th)
91प्रोटेक्टिनियम(Pa)
92यूरेनियम(U)
93नेप्च्यूनियम(Np)
94प्लूटोनियम (Pu)
95अमेरिशियम(Am)
96क्यूरियम(Cm)
97बर्केलियम(Bk)
98कैलीफोर्नियम(Cf)
99आइंस्टीनियम(Es)
100फर्मीयम(Fm)
101मेण्डेलीवियम(Md)
102नोबेलियम(No)
103लोरेनसियम(Lr)
104रदरफोर्डियम(Rf)
105डब्नियम (Db)
106सीबोर्गियम(Sg)
107बोरियम(Bh)
108हैसियम (Hs)
109मेइट्नेरियम(Mt)
110डार्म्स्टेडशियम(Ds)
111रेन्टजेनियम(Rg)
112युननबियम या कोपरनिसियम(Uub)/ (Cn)
113युनुनट्रियम (Uut)
114युनुनक्वैडीयम या फ्लेरोवियम (Uuq) / (Fl)
115युनुनपेन्टियम(Uup)
116युनुनहेक्सियम या लिवरमोरियम(Uuh) / (Lv)
117युनुनसेप्टियम(Uus)
118युनुनोक्टियम(Uuo)

तत्वों के प्रकार

तत्व तीन प्रकार के होते हैं। धातु, अधातु और उपधातु। तीनों प्रकार की अपनी एक अलग विशेषता होती है। उदहारण के लिए नीचे देखें।

धातु
  • धातु : यह विधुत्त एवं ऊष्मा का सुचालक होता है।
  • धातु कठोर होते हैं। अपवाद सोडियम जिसे चाकू से आसानी से काटा जा सकता है।
  • धातु के अंदर एक अलग प्रकार की चमक होती है।
  • धातु को पीटने के बाद एक प्रकार की विशेष गुंज सुनाई देती है।

उदाहरण के तौर पर– सोडियम, जिंक, कैल्शियम

अधातु
  • अधातु तीनों अवस्था में पाए जाते हैं। ब्रोमीन ही केवल ऐसा अधातु है जो द्रव अवस्था में पाया जाता है।
  • अधातु में धातु से चमक नहीं होती है।
  • अधातु काफी मुलायम होते हैं।
  • पीटने पर धातु जैसी गूंज सुनाई नहीं देती है।

उदाहरण के तौर पर- हिलियम, कार्बन, ऑक्सीजन, हाइड्रोजन

उपधातु
  • जब तत्व जिनके गुण धातु तथा कुछ गुण अधातु से मिलते हैं, तो उसको उपधातु कहते हैं।

उदाहरण के तौर पर- एंटिमनी (Sb), सिलिकॉन (Si), बोरान (B) और टेल्यूरियम (Te)

अधिक ज्ञान बढ़ाने के लिएयहां क्लिक करें

Leave a Reply