मित्रता दिवस पर निबंध (Essay On Friendship Day In Hindi): फ्रेंडशिप डे पर निबंध और शायरी

मित्रता दिवस पर निबंध (Essay On Friendship Day In Hindi)- आज के डिजिटल युग में किसी से भी दोस्ती करना बहुत आम और सरल हो गया है, जिसने मित्रता की परिभाषा (सच्चा मित्र वही है, जो हर अच्छे और बुरे वक्त में साथ दे) को पूरी तरह से बदलकर रख दिया है। अब हमें दोस्त बनाने के लिए किसी पार्क में जाने की कोई ज़रूरत नहीं, अब तो बस सोशल मीडिया पर अकाउंट बनाओ, फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजो और किसी के भी दोस्त हो जाओ। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि चंद मिनटों में की गई दोस्ती लाइफ टाइम रह सकती है।

मित्रता दिवस पर निबंध (Essay On Friendship Day In Hindi)

इसीलिए मित्रता दिवस (Friendship Day) के खास मौके पर parikshapoint.com आप सभी के लिए फ्रेंडशिप डे पर निबंध हिंदी में (Friendship Day Essay In Hindi) लेकर आया है, जिसे पढ़कर आप मित्र और मित्रता का सही अर्थ समझ सकें। हमारे इस Essay About Friendship Day को पढ़कर आप ये भी जानेंगे कि हर साल मित्रता दिवस कब मनाया जाता है (Friendship Day Kab Manaya Jata Hai) और फ्रेंडशिप डे क्यूं मनाया जाता है। इस पेज पर दिए गए मित्रता दिवस पर निबंध हिंदी में के साथ-साथ आप मित्रता दिवस शायरी, फ्रेंडशिप डे स्टेटस और फ्रेंडशिप डे कोट्स भी पढ़ सकते हैं। मित्रता दिवस पर लेख (Friendship Day Paragraph) के लिए नीचे देखें।

मित्रता दिवस पर निबंध
(Friendship Day Essay In Hindi)

प्रस्तावना

हम अपने पूरे जीवन में अनेक लोगों से मिलते और बिछड़ते हैं, जिनमें से कुछ लोग हमारे मित्र भी बन जाते हैं। अपने परिवार के अलावा बचपन में हमें जिनकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है, वे होते हैं हमारे दोस्त। लेकिन जिंदगी की भागदौड़ में कुछ दोस्त पीछे छूट जाते हैं। हम सभी के स्कूल, कॉलेज, ट्यूशन, ऑफिस आदि जगहों पर बहुत से दोस्त होते हैं लेकिन हमारा सच्चा मित्र हमेशा एक ही होता है। किसी से भी दोस्ती करना बहुत आसान है लेकिन सच्ची दोस्ती करना बहुत मुश्किल है। आज सोशल मीडिया पर तो हमारे लाखों दोस्त हैं, जिनमें से ज़्यादातर तो ऐसे हैं जिनसे हम कभी मिले भी नहीं और शायद उनसे कभी न भी मिल पाएं। आज भले ही दोस्ती आम हो गई हो लेकिन एक सच्चा दोस्त बड़ी मुश्किल से मिलता है। हम ये भी कह सकते हैं कि सच्चा दोस्त मिलता नहीं बल्कि उसे सच्चाई और अच्छाई से कमाना पड़ता है।

ये निबंध भी पढ़ें

स्वतंत्रता दिवस पर निबंधयहां से पढ़ें
रक्षाबंधन पर निबंधयहां से पढ़ें
शिक्षा का महत्त्व पर निबंधयहां से पढ़ें
पर्यावरण प्रदूषण पर निबंधयहां से पढ़ें
अन्य विषयों पर निबंधयहां से पढ़ें

मित्रता दिवस कब मनाया जाता है?

मित्रता दिवस यानी कि फ्रेंडशिप डे दुनिया के कई देशों में मनाया जाता और सभी देशों में इसे अलग-अलग तारीख को मनाया जाता है। दुनिया के ज्यादातर देशों में फ्रेंडशिप डे 30 जुलाई को मनाया जाता है, जिसे इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे (International Friendship Day) या वर्ल्ड फ्रेंडशिप डे (World Friendship Day) भी बोलते हैं। भारत में फ्रेंडशिप डे अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है।

मित्रता दिवस क्यों मनाया जाता है?

मित्रता दिवस (Friendship Day) को लेकर कई तरह की कहानियां सुनने और पढ़ने को मिलती हैं। ऐसा कहा जाता है कि फ्रेंडशिप डे मनाने की शुरुआत परागुआ से हुई थी। सबसे पहला फ्रेंडशिप डे वर्ष 1958 में मनाया गया था। डॉ. रैमन और उनके दोस्तों ने मिलकर इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे मनाने का प्रस्ताव पेश किया गया था, जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने अंतर्राष्ट्रीय फ्रेंडशिप डे मनाने की घोषणा 30 जुलाई को की थी।

फ्रेंडशिप डे को लेकर ऐसा भी कहा जाता है कि अमेरिका में सन् 1935 में अगस्त महीने के पहले संडे को एक आदमी को जान से मार दिया गया था। जिस आदमी को मारा गया था उसका एक सच्चा मित्र था। जब उसे पता चला कि उसके दोस्त की हत्या कर दी गई है, तो वह बहुत दुखी हो गया और उसने भी आत्महत्या कर ली। दो सच्चे मित्रों की ऐसी सच्ची मित्रता को देखते हुए अमेरिकी सरकार ने अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाने का फैसला लिया। फिर फ्रेंडशिप डे मनाने का चलन धीरे-धीरे बाकी देशों में भी बढ़ने लगा। अब भारत और अन्य कई देशों में अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है।

मित्रता दिवस का महत्व

हम सभी का एक सच्चा मित्र ज़रूर होना चाहिए, जिसके साथ हम अपना सुख-दुख बांट सकें। मित्रता दिवस भी एक ऐसे सच्चे मित्र को समर्पित है, जो हमारी हर बात को समझे और हमें हम से ज़्यादा जानता हो। लड़का-लड़की भी एक सच्चे मित्र हो सकते हैं। मित्रता का बंधन तो विश्वास का बंधन है, जो बाकी बंधनों से ज़्यादा पवित्र है। मित्रता दिवस का महत्व हमें बताता है कि दो सच्चे मित्रों के बीच इतनी गहरी मित्रता हो कि उसमें कभी भी कोई दरार न पड़ सके। सच्ची मित्रता वही है जो बिना किसी भेदभाव के सच्चे दिल से निभाई जाए। मित्रता दिवस के महत्व को समझते हुए आज भी हम भगवान श्री कृष्ण और सुदामा की मित्रता को याद करते हैं जो भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में सच्ची मित्रता की मिसाल बने हुए हैं। जिस तरह सच्चा प्रेम आज भी राधा और कृष्ण को ढूंढता है, ठीक उसी तरह सच्ची मित्रता कृष्ण और सुदामा को ढूंढती है।

निष्कर्ष

अंत में हम ये कह सकते हैं कि भले ही हमारे दोस्त ज़्यादा न हों लेकिन जितने भी हों वो ऐसे हों जो दोस्ती के मतलब को समझें, उसे निभाएं और उसकी पूरी कदर करें, ताकि हम भी समाज में दोस्ती की एक नई मिसाल कायम कर सकें।

मित्रता दिवस पर शायरी

दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से

– हफ़ीज़ होशियारपुरी

हम को यारों ने याद भी न रखा
‘जौन’ यारों के यार थे हम तो

– जौन एलिया

अगर तुम्हारी अना ही का है सवाल तो फिर
चलो मैं हाथ बढ़ाता हूँ दोस्ती के लिए

– अहमद फ़राज़

दोस्ती जब किसी से की जाए
दुश्मनों की भी राय ली जाए

– राहत इंदौरी

लोग डरते हैं दुश्मनी से तिरी
हम तिरी दोस्ती से डरते हैं

– हबीब जालिब

मित्रता दिवस से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ’s)

People also ask

प्रश्न- फ्रेंडशिप डे कब है 2022?

उत्तरः इंडिया में इस साल फ्रेंडशिप डे 7 अगस्त 2022 को है।

प्रश्न- फ्रेंडशिप डे कब आता है?

उत्तरः इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे हर साल 30 जुलाई को आता है।

प्रश्न- फ्रेंडशिप डे का क्या महत्व है?

उत्तरः फ्रेंडशिप डे दो सच्चे मित्रों, चाहे लड़का हो या लड़की, की मित्रता को दर्शाता है।

प्रश्न- फ्रेंडशिप डे कब मनाया जाता है?

उत्तरः इंडिया में फ्रेंडशिप डे हर साल अगस्त के पहले संडे को मनाया जाता है।

प्रश्न- दोस्तों को कौन से दिन समर्पित होते हैं?

उत्तरः फ्रेंडशिप डे।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह हिंदी में निबंध (Essay In Hindi) ज़रूर पसंद आया होगा और आपको इस निबंध से जुड़ी सभी ज़रूरी जानकारी भी मिल गई होगी। इस निबंध को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।

parikshapoint.com की तरफ से आप सभी को “हैप्पी फ्रेंडशिप डे” (Happy Friendship Day)।

अन्य विषयों पर निबंध पढ़ने के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Reply