एनसीईआरटी समाधान कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान नागरिक शास्त्र अध्याय 1 भारतीय संविधान

छात्र इस आर्टिकल के माध्यम से एनसीईआरटी समाधान कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान नागरिक शास्त्र अध्याय 1 भारतीय संविधान प्राप्त कर सकते हैं। नागरिक शास्त्र कक्षा 8 के प्रश्न उत्तर छात्रों की सहायता के लिए बनाए गए हैं। ncert solutions class 8 civics chapter 1 भारतीय संविधान के माध्यम से छात्र परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं। कक्षा 8 नागरिक शास्त्र अध्याय 1 भारतीय संविधान के प्रश्न उत्तर को साधारण भाषा में बनाया गया हैं। सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन class 8 अध्याय 1 भारतीय संविधान के प्रश्न उत्तर नीचे देख सकते हैं। आइये फिर नीचे कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान पाठ 1 के प्रश्न उत्तर देखें।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान नागरिक शास्त्र अध्याय 1 भारतीय संविधान

छात्रों के लिए सामाजिक विज्ञान कक्षा आठवीं के प्रश्न उत्तर पूरी तरह से मुफ्त है। बता दें कि class 8 samajik vigyan chapter 1 question answer को राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद के सहायता से बनाया गया हैं।कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान नागरिक शास्त्र अध्याय 1 भारतीय संविधान को सीबीएसई सिलेबस को ध्यान में रखकर बनाया गया हैं। सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन-3 class 8 chapter 1 नीचे से देखें।

कक्षा : 8
विषय : सामाजिक विज्ञान (नागरिक शास्त्र –सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन-3)

पाठ :-1  भारतीय संविधान
पाठ के बीच में पूछे जाने वाले प्रश्न-उत्तर

प्रश्न 1 – अपने शिक्षक के साथ चर्चा करें कि मूलभूत (constitutive) शब्द से आप क्या समझते हैं ? अपने रोजमर्रा के जीवन के आधार पर मूलभूत नियम का एक उदाहरण दें।

उत्तर :- हम रोजमर्रा के जीवन के आधार पर फुटबॉल खेल का उदाहरण लेते है। फुटबॉल का एक नियम यह है कि गोलकीपर के अलावा और कोई खिलाड़ी गेंद को बाँह से नहीं छू सकता। अगर किसी खिलाड़ी ने बाँह से गेंद को छू लिया तो इसे फाउल माना जाता है। कहने का मतलब यह है कि अगर खिलाड़ी फुटबॉल को हाथों में लेकर एक–दूसरे को थमाने लगे तो उस खेल को फुटबॉल नहीं माना जाएगा। इसी तरह हॉकी या क्रिकेट आदि दूसरे खेलों के भी कुछ तय नियम होते हैं। इन नियमों से खेल को परिभाषित करने और अलग–अलग खेलों के बीच फर्क करने में मदद मिलती है। इन खेलों की तरह हर समाज के भी कुछ मूलभूत नियम (Constitutive rules) होते हैं। उन्हीं से समाज का स्वरूप तय होता है और अलग–अलग समाजों के बीच फ़र्क पता चलता है। इसी प्रकार मूलभूत से तात्पर्य यह है कि जो अतिआवश्यक हो और किसी भी चीज से जुड़ने के लिए मूलभूत नियम पता होने चाहिए।

प्रश्न 2 – नेपाल की जनता एक नया संविधान क्यों चाहती थी ?

उत्तर :- इसका कारण यह है कि कुछ समय पहले तक नेपाल एक राजतंत्र था। वहाँ राजा का शासन था। 1990 में बना नेपाल का पिछला संविधान इस सिद्धांत पर आधारित था कि शासन की सर्वोच्च सत्ता राजा के पास रहेगी। नेपाल के लोग कई दशक से लोकतंत्र की स्थापना के लिए जनांदोलन करते चले आ रहे थे। इसी संघर्ष के फलस्वरूप 2006 में आखिरकार उन्हें राजा की सत्ता को खत्म करने में कामयाबी मिल गई, अब नेपाल के लोग लोकतंत्र के रास्ते पर चलना चाहते हैं और इसके लिए उन्हें एक नया संविधान चाहिए। वे पिछले संविधान को इसलिए नहीं अपनाना चाहते क्योंकि उसमें वे आदर्श नहीं हैं जो वे नेपाल के लिए चाहते हैं और जिनके लिए वे लड़ते रहे हैं।

प्रश्न 3 – मॉनीटर अपनी शक्ति का किस तरह दुरुपयोग कर रहा है ?

उत्तर :- मॉनीटर सुरेश एक दबंग किस्म का लड़का है। उसके सहपाठी भी उसे पसंद नहीं करते क्योंकि वह अपनी शक्तियों का दुरूपयोग करता है। जब उनकी क्लास टीचर अचानक किसी काम से बाहर जाती है, वह सुरेश को सब बच्चों का ख्याल रखने के लिए बोलकर जाती है। वह इसकी बजाय अनिल नामक विद्यार्थी की झूठी शिकायत करता है कि वह शोर मचाकर सभी बच्चों को परेशान कर रहा है और क्लास टीचर सुरेश मॉनीटर की बात मानकर अनिल को सज़ा देती है।

प्रश्न 4 – नीचे दी गई किस परिस्थिति में मंत्री को अपनी सत्ता के दुरुपयोग का दोषी कहा जाएगा –

(क) जब वह ठोस तकनीकी कारणों से अपने मंत्रालय की किसी परियोजना को नामंजूर कर देता है।

(ख) जब वह अपने पड़ोसी को अपने सुरक्षाकर्मियों से पिटवाने की धमकी देता है;

(ग) जब वह थाने में फ़ोन करके पुलिस अधिकारियों पर दबाव डालता है कि उसके किसी दोषी रिश्तेदार के खिलाफ़ एफ.आई.आर. दर्ज न की जाए।

उत्तर :- (ख) जब वह अपने पड़ोसी को अपने सुरक्षाकर्मियों से पिटवाने की धमकी देता है।

(ग) वह थाने में फ़ोन करके पुलिस अधिकारियों पर दबाव डालता है कि उसके किसी दोषी रिश्तेदार के खिलाफ़ एफ.आई.आर. दर्ज न की जाए।

प्रश्न 5 – उपरोक्त चित्रकथा -पट्ट में कौन लोग अल्पसंख्या में है ? बहुसंख्यक गुट द्वारा लिए गए फैसलों से यह अल्पसंख्यक गुट किस तरह दबाया जा रहा है ?

उत्तर :- उपरोक्त चित्रकथा – पट्ट में लड़कियाँ अल्पसंख्या में है। लड़के क्रिकेट खेलना चाहते थे लेकिन लड़कियों का बास्केट बॉल खेलने का मन था। जब काफी समय तक कोई हल नहीं निकला तो शिक्षकों ने सुझाव दिया कि दोनों पक्ष हाथ उठाकर अपनी राय बताएं। लड़कों की संख्या ज़्यादा होने के कारण लड़कियाँ हार जाती है। इस प्रकार बहुसंख्यक गुट द्वारा लिए गए फैसलों से अल्पसंख्यक गुट को दबाया जा रहा है।

प्रश्न 6 – शबनम इस बात पर क्यों खुश हो रही है कि उसने टी.वी. नहीं देखा? ऐसी स्थिति में आप क्या करते ?

उत्तर :- शबनम को परीक्षा के लिए दो अध्याय पढ़ने थे लेकिन उसी समय उसका पसंदीदा टीवी कार्यक्रम भी आया हुआ था। उसने इस दुविधा का हल निकाला कि आज की रात अगर कोई भी टीवी नहीं देखेगा तो उसका मन नहीं ललचाएगा। इसलिए वह टीवी देखने की जगह अध्याय पढ़ती है और अगले दिन परीक्षा में ज़्यादा सवाल उन्हीं दो अध्याय में से आते है। इसलिए वह खुश होती है कि अच्छा हुआ मैंने टीवी नहीं देखा। ऐसी स्थिति में मैं भी यही करता।

प्रश्न 7 – अपने शिक्षक के साथ चर्चा करें कि राज्य और सरकार के बीच क्या फर्क होता है ?

उत्तर :- ‘ सरकार ‘ की ज़िम्मेदारी होती है कानून बनाना और लागू करना। लेकिन चुनावों के ज़रिए सरकार बदल सकती है। पर राज्य एक ऐसी राजनीतिक संस्था होती है जो निश्चित भूभाग में रहने वाले संप्रभु लोगों का प्रतिनिधित्व करती है। इस आधार पर हम भारतीय राज्य, नेपाली राज्य आदि की बात कर सकते हैं। भारतीय राज्य की एक लोकतांत्रिक सरकार है। सरकार (या कार्यपालिका) राज्य का एक हिस्सा होती है। राज्य का मतलब सरकार से कहीं ज्यादा व्यापक होता है। उसे सरकार के स्थान पर इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

प्रश्न 8 – निम्नलिखित परिस्थितियों में कौन से मौलिक अधिकारों का उल्लंघन हो रहा है :-

(क) यदि 13 साल का एक बच्चा कालीन के कारखाने में मजदूरी करता है।

उत्तर:-  इसमें शोषण के विरुद्ध अधिकार का उल्लंघन हो रहा है।

(ख) यदि किसी राज्य का कोई नेता दूसरे राज्यों के लोगों को अपने राज्य में काम करने से रोकता है।

उत्तर:- स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन हो रहा है।

(ग) यदि किसी जनसमूह को राजस्थान में तेलुगु माध्यम का स्कूल खोलने की अनुमति नहीं दी जाती है।

उत्तर :-  सांस्कृतिक तथा शैक्षणिक अधिकार का उल्लंघन हो रहा है।

(घ) यदि सरकार सशस्त्र बलों में कार्यरत किसी अधिकारी को इसलिए पदोन्नति नहीं दे रही है क्योंकि वह अधिकारी महिला है।

उत्तर :- समानता के अधिकार का उल्लंघन हो रहा है।

अभ्यास:-

प्रश्न 1 – किसी लोकतांत्रिक देश को संविधान की जरूरत क्यों पड़ती है ?

उत्तर :- किसी भी लोकतांत्रिक देश को संविधान की जरूरत कई कारणों से होती है। जैसे :- किसी भी लोकतांत्रिक शासन प्रणाली के लिए संविधान का होना अनिवार्य है। संविधान सरकार की शक्ति तथा सत्ता का स्त्रोत है। संविधान सरकार के ढांचे तथा सरकार के विभिन्न अंगों की शक्तियों की व्यवस्था करता है। संविधान सरकार के विभिन्न अंगों के पारस्परिक संबंध निर्धारित करता है। संविधान सरकार और नागरिकों के संबंधों को निर्धारित करता है। संविधान सरकार की शक्तियों पर सीमाएं लगाता है। संविधान सर्वोच्च कानून है जिसके द्वारा समाज के विभिन्न लोगों में समन्वय किया जाता है।

प्रश्न 2 – नीचे दिए गए दो दस्तावेजों के हिस्सों को देखिए। पहला कॉलम 1990 का नेपाल के संविधान का है। दूसरा नेपाल के ताजा अंतरिम संविधान में से लिया गया है।

1990 का नेपाल का संविधान   भाग – 7 : कार्यपालिका2007 अंतरिम संविधान  भाग – 5 : कार्यपालिका
अनुच्छेद 35 : कार्यकारी शक्तियाँ नेपाल अधिराज्य की कार्यकारी शक्तियाँ महामहिम नरेश एवं मंत्रिपरिषद् में निहित होगी।अनुच्छेद 37 : कार्यकारी शक्तियाँ नेपाल की कार्यकारी शक्तियाँ मंत्रिपरिषद् में निहित होगी।

नेपाल के इन दोनों संविधानों में ‘कार्यकारी शक्ति’ के उपयोग में क्या फ़र्क दिखाई देता है? इस बात को ध्यान में रखते हुए क्या आपको लगता है कि नेपाल को एक नए संविधान की जरूरत है? क्यों?

उत्तर :- 1990 के संविधान के अनुच्छेद 35 के अनुसार नेपाल में, सभी कार्यकारी शक्तियां पूर्ण रुप से नेपाल के राजा में निहित थीं अर्थात् शासन की सर्वोच्च सत्ता राजा के पास रहेगी। राजा राज्य का अध्यक्ष होने के साथ – साथ सरकार का भी अध्यक्ष था। वह सभी कार्यकारी शक्तियों का प्रयोग करता था और उसकी शक्तियां असीमित थी। परंतु 2007 के अंतरिम संविधान के अनुसार कार्यकारी शक्तियाँ मंत्रिपरिषद में निहित है। कार्यकारी शक्तियां और कार्य नेपाल के प्रधानमंत्री के नाम से संचालित की जाती है। प्रधानमंत्री एवं मंत्रिपरिषद कार्यकारी शक्तियों का प्रयोग संविधान के प्रावधानों के अनुसार करता है। वास्तव में परिवर्तित परिस्थितियों में एक नए संविधान की बहुत अधिक आवश्यकता है। पुराना संविधान देश के आदर्शों को प्रतिबिम्ब नहीं करता। इसलिए नेपाल में प्रजातंत्र की स्थापना के लिए नए संविधान की आवश्यकता है।

प्रश्न 3 – अगर निर्वाचित प्रतिनिधियों की शक्ति पर कोई अंकुश न होता तो क्या होता ?

उत्तर :-  प्रजातांत्रिक देश में सरकार निर्वाचित प्रतिनिधियों के द्वारा चलती है। भारत में वैधानिक एवं कार्यकारी  शक्तियाँ लोगों द्वारा निर्वाचित प्रतिनिधियों में निहित हैं। यह बहुत आवश्यक है कि निर्वाचित प्रतिनिधि लोगों की सेवाओं के लिए शक्तियों का प्रयोग करें। उन्हें अपनी शक्तियों का प्रयोग संविधान के प्रावधानों के अनुसार करना चाहिए। निर्वाचित प्रतिनिधियों पर कुछ संवैधानिक एवं कानूनी प्रतिबंध होने चाहिए। यदि उन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा, तब वे शक्तियों का अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए दुरुपयोग करेंगे तथा लोगों की सेवा नहीं करेंगे। संविधान कई प्रकार से निर्वाचित प्रतिनिधियों की शक्तियों को नियंत्रित करता है। सामान्य तौर पर नागरिकों को मौलिक अधिकार प्रदान निर्वाचित प्रतिनिधियों की शक्तियों को सीमित कर दिया जाता है।

प्रश्न 4 – निम्नलिखित स्थितियों में अल्पसंख्यक कौन हैं ? इन स्थितियों में अल्पसंख्यकों के विचारों का सम्मान करना महत्त्वपूर्ण है। इसका एक-एक कारण बताइए।

(क) एक स्कूल में 30 शिक्षक हैं और उनमें से 20 पुरुष हैं।

उत्तर :- किसी विद्यालय में 30 अध्यापक है जिसमें से 10 महिलाएं है और 20 पुरुष है। इसमें महिला अध्यापक अल्पसंख्यक है। पुरुषों को महिलाओं का सम्मान करना चाहिए और कही किसी बात पर फैसला लेना हो तो उनकी बातों को दबाना नहीं चाहिए।

(ख) एक शहर में 5 प्रतिशत लोग बौद्ध धर्म को मानते हैं।

उत्तर :- किसी शहर में बुद्ध धर्म को मानने वाले अल्पसंख्यक है। इसलिए बहुसंख्यक को बुद्ध धर्म मानने वालों के विचारों एवं धर्म का सम्मान करना चाहिए।

(ग) एक कारखाने के भोजनालय में 80 प्रतिशत कर्मचारी शाकाहारी हैं।

उत्तर :- एक कारखाने के भोजनालय में मांसाहारी अल्पसंख्यक है इसलिए शाकाहारियों को जो बहुसंख्यक है मांसाहारियों के विचारों का आदर करना चाहिए।

(घ) 50 विद्यार्थियों की कक्षा में 40 विद्यार्थी संपन्न परिवारों से हैं।

उत्तर :- एक कक्षा में 50 विद्यार्थी है जिनमें से 10 छात्र समृद्ध परिवारों से नहीं है वे अल्पसंख्यक है। इसलिए बहुमत जो कि संपन्न परिवारों से हैं उन्हें अल्पसंख्यक विद्यार्थियों के विचारों का आदर करना चाहिए।

प्रश्न 5 – नीचे दिए गए बाएँ  कॉलम में भारतीय संविधान के मुख्य आयामों की सूची दी गई है। दूसरे कॉलम में प्रत्येक आयाम के सामने दो वाक्यों में लिखिए कि आपकी राय में यह आयाम क्यों महत्त्वपूर्ण है:-

मुख्य आयाम महत्व
संघवाद 
शक्तियों का बंटवारा 
मौलिक अधिकार 
संसदीय शासन पद्धति 

उत्तर:-

मुख्य आयाम                         महत्व
संघवादसंघवाद आवश्यक है क्योंकि यह राष्ट्रवाद की भावना और क्षेत्रीय विचारों को समाहित करता है।
शक्तियों का बंटवारासरकार के तीन अंग है :-  विधानपालिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका।  सरकार के किसी अंग द्वारा शक्तियों के दुरूपयोग को रोकने के लिए संविधान कहता है कि सरकार के तीनों अंग अलग अलग तरह से शक्तियों का प्रयोग करेंगे।
मौलिक अधिकारमौलिक अधिकार प्रत्येक व्यक्ति के विकास को प्रोत्साहित करता है।
संसदीय शासन पद्धतिसंसदीय सरकार अधिक लोकतांत्रिक होती है क्योंकि इस प्रकार की सरकार में लोगों का भी भाग होता है।

प्रश्न:-6. उन भारतीय राज्यों के नाम लिखिए जिनकी सीमाएं निम्नलिखित पड़ोसी देश से लगती है।

(क) बांग्लादेश

(ख) भूटान

(ग) नेपाल

उत्तर:- (क) बांग्लादेश :- असम, त्रिपुरा, मिजोरम, मेघालय, पश्चिम बंगाल

(ख) भूटान :- अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, असम, पश्चिम बंगाल

(ग) नेपाल :- उत्तराखंड, उतर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम

कक्षा 8 नागरिक शास्त्र के सभी अध्यायों के एनसीईआरटी समाधान नीचे टेबल से देखें
अध्याय की संख्याअध्याय के नाम
अध्याय 1भारतीय संविधान
अध्याय 2धर्मनिरपेक्षता की समझ
अध्याय 3हमें संसद क्यों चाहिए?
अध्याय 4कानूनों के समझ
अध्याय 5न्यायपालिका
अध्याय 6हमारी आपराधिक न्याय प्रणाली
अध्याय 7हाशियाकरण की समझ
अध्याय 8हाशियाकरण से निपटना
अध्याय 9जनसुविधाएँ
अध्याय 10कानून और सामाजिक न्याय

छात्रों को नागरिक शास्त्र कक्षा 8 के प्रश्न उत्तर प्राप्त करके काफी खुशी हुई होगी। class 8 social science in hindi में देने का उद्देश्य केवल छात्रों को बेहतर ज्ञान देना है। इसके अलावा आप हमारी वेबसाइट के एनसीईआरटी के पेज से सभी कक्षाओं के एनसीईआरटी समाधान (NCERT Solutions in hindi) और हिंदी में एनसीईआरटी की पुस्तकें (NCERT Books In Hindi) भी प्राप्त कर सकते हैं। हम आशा करते है कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा।

कक्षा 8 के इतिहास और भूगोल के एनसीईआरटी समाधानयहां से देखें

Leave a Reply