CRPF Full Form In Hindi: सी.आर.पी.एफ. क्या है, योग्यता, परीक्षा पैटर्न, वेतन

Photo of author
Mamta Kumari

सीआरपीएफ की फुल फॉर्म (CRPF Full Form In Hindi)- ज्यादातर युवाओं और युवतियों का सपना होता है आर्मी में जाना और देश के नागरिक होने के साथ-साथ वर्दी धारण करके देश की सेवा करना। ऐसे में आपके लिए सी.आर.पी.एफ. में जाना एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। इस बात को हर कोई स्वीकार करता है कि वर्दी आपको सिर्फ समाज में सम्मान ही नहीं दिलाती है बल्कि आपको हमेशा अपने देश और खुद पर गर्व भी महसूस कराती है। किसी भी देश की सुरक्षा उस देश की सैन्य शक्ति पर निर्भर करती है। भारत देश में भी थल सेना, जल सेना और वायु सेना तीन प्रकार की सेना मौजूद हैं जिनमें से एक सैन्य सी.आर.पी.एफ. देश की सबसे बड़ी लश्कर है, जिसे भारत की मिलिट्री फोर्स भी कहते हैं।

सीआरपीएफ की फुल फॉर्म

सी.आर.पी.एफ. भारत देश का सबसे बड़ा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल है। जितना गौरवशाली इसका इतिहास है उतना ही मजबूत इसका वर्तमान है। ऐसा इसलिए क्योंकि सी.आर.पी.एफ. का इतिहास अनेक वीर योद्धाओं के बलिदान से भरा हुआ है जिनका व्यक्तित्व और कृतित्व आज भी कई लोगों के लिए प्रेरणा का विषय बना हुआ है। कई सालों से ये अनेक कठिन लड़ाइयाँ लड़ते आ रहे हैं। कई बार इसने भारतीय सेना के साथ मिलकर कई बड़े-बड़े युद्ध भी लड़े हैं। यह सच है कि कोई भी युद्ध अकेले नहीं लड़ा जा सकता उसके लिए किसी न किसी का साथ जरूरी होता है, वो चाहे आपकी विचारधारा हो या आपके अपने। इसी भूमिका को सी.आर.पी.एफ. निभाता आ रहा और भारत देश को एक अच्छी सुरक्षा प्रदान कर रहा है। अगर आपका भी सपना पुलिस बल में जाने का है और आप इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो आप इस आर्टिकल को पढ़कर सी.आर.पी.एफ. के बारे में जान सकते हैं।

सी.आर.पी.एफ. क्या है?

सी.आर.पी.एफ. को अर्धसैनिक बल भी कहा जाता है क्योंकि यह भारत का सबसे बड़ा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल है जोकि केंद्र सरकार को सुरक्षा प्रदान करता है और गृहमंत्रालय के अधीन रहकर कार्य करता है। आपको बता दें कि सी.आर.पी.एफ. का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है। बात अगर इसके कार्य की करें, तो इसका मुख्य कार्य केंद्र सरकार के क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ विशेष व्यक्तियों को सुरक्षा प्रदान करना है। वर्ष 1939 में 27 जुलाई के दिन यह क्राउन रिप्रेजेंटेटिव पुलिस के नाम से सबके सामने आया था। सी.आर.पी.एफ. में शामिल होने वाले वीरों को आतंकवादी या नक्सलवादी क्षेत्रों और सिर्फ विशेष स्थानों पर ही तैनात किया जाता है। सी.आर.पी.एफ. में शामिल होने वाले नौजवानों को ट्रेनिंग सी.आर.पी.एफ. अकादमी में दी जाती है। सी.आर.पी.एफ. में कुल 246 बटालियन है जिसमें से 208 कार्यकारी बटालियन, 15 द्रुत कार्यबल बटालियन, 3 महिला बटालियन, 10 कोबरा बटालियन, 5 सिगनल बटालियन, 3 एन.डी.आर.एफ. बटालियन, एक विशेष कार्यसमूह और एक ही संसद ड्यूटी ग्रुप शामिल है।

सी.आर.पी.एफ. फुल फॉर्म

सी.आर.पी.एफ. का पूरा नाम हिंदी और अंग्रेजी में नीचे टेबल में पढ़ें-

सी.आर.पी.एफ. की फुल फॉर्म हिंदी में (CRPF Full Form In Hindi)सी.आर.पी.एफ. की फुल फॉर्म अंग्रेजी में (CRPF Full Form In English)
“केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल” (Kendriya Reserve Police Bal)“सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स” (Central Reserve Police Force) 

ये फुल फॉर्म भी देखें-

एमबीए की फुल फॉर्म (MBA Full Form In Hindi)
इसरो की फुल फॉर्म (ISRO Full Form In Hindi)
आईटीआई की फुल फॉर्म (ITI Full Form In Hindi)
एनडीए की फुल फॉर्म (NDA Full Form In Hindi)

सी.आर.पी.एफ. का इतिहास

सी.आर.पी.एफ. को पहले क्राउन रिप्रेजेंटेटिव पुलिस (सीआरपी) के नाम से जाना जाता था। जिसकी स्थापना वर्ष 1939 में की गई थी लेकिन स्वतंत्रता के कुछ वर्ष बाद 28 दिसंबर वर्ष 1949 को इसका नाम बदलकर केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सी.आर.पी.एफ.) कर दिया गया। आप सी.आर.पी.एफ. की महत्वपूर्ण भूमिका को उस घटना से समझ सकते हैं जब साल 1959 में 21 अक्टूबर के दिन सी.आर.पी.एफ. के एक दल पर चीनी सैनिकों ने अचानक से धावा बोल दिया। तब देश के लिए कई सैनिकों ने उस दौरान अपने प्राणों का बलिदान दिया था। इसलिए उस घटना और देश के जवानों की शहादत को याद करते हुए हर वर्ष 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है। वर्तमान समय में सी.आर.पी.एफ. अपनी हर भूमिका को बखूबी निभा रहा है।

सी.आर.पी.एफ. के कार्य

सी.आर.पी.एफ. द्वारा किए जाने वाले कार्य निम्नलिखित हैं-

  • आतंकवादियों से मुकाबला करना।
  • केंद्र शासित प्रदेश और सी.आर.पी.एफ. राज्य में नक्सलवाद को रोकने का कार्य।
  • प्रकृति की सुंदरता को बनाए रखने की जिम्मेदारी। पर्यावरण का किसी तरह से क्षरण न हो, वनस्पतियों और जीवों को हानी न पहुँचे इसके लिए बेहतर निगरानी उपलब्ध कराना।
  • विशेष एवं अत्यधिक महत्वपूर्ण व्यक्तियों को सुरक्षा प्रदान करना।
  • इनका सबसे पहला कार्य राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखेने में पुलिस फोर्स की मदद करना है।
  • मतदान के दौरान केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल के सैनिकों को तैनात किया जाता है ताकि मतदान के दौरान किसी तरह का दंगा-फसाद न हो और अगर ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है तो ये सैनिक तुरंत आम जनता को सुरक्षा प्रदान करते हैं साथ ही दंगे को रोकने का कार्य करते हैं।
  • राज्यपाल, हवाई अड्डे, बिजली घर (पावर हाउस) और मुख्यमंत्री के निवास स्थल आदि को सुरक्षा प्रदान करने का कार्य सी.आर.पी.एफ. ही करता है।

सी.आर.पी.एफ. के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार10वीं या 12वीं पास होना चाहिए।
  • 12वीं की पढ़ाई आप किसी भी विषय क्षेत्र से कर सकते हैं।
  • सी.आर.पी.एफ. में जाने के लिए योग्य उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • अभ्यर्थी की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए।
  • आरक्षित उम्मीदवारों के लिए उम्र सीमा में सरकार की तरफ से रियायत बरती जाती है।
  • पुरुष उम्मीदवार के लिए लंबाई लगभग 165 सेमी. और महिला उम्मीदवार के लिए लंबाई 157 सेमी. निश्चित की गई है।
  • उम्मीदवारों का सीना कम से कम 77 सेमी. होना अनिवार्य है।
  • आपको कोई गंभीर बीमारी नहीं होनी चाहिए और आप शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ होने चाहिए।
  • अगर आप एक योग्य उम्मीदवार हैं, तो आप सी.आर.पी.एफ. में जाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसेक लिए आप सी.आर.पी.एफ. की आधिकारिक वेबसाइट crpf.gov.in पर जा सकते है।

सी.आर.पी.एफ. की तैयारी कैसे करें?

  • अगर आप प्रथम प्रयास में ही सी.आर.पी.एफ. परीक्षा में सफलता हासिल करना चाहते हैं, तो पहले पाठ्यक्रम को ध्यान से पढ़ें और उसी के आधार पर अपनी तैयारी शुरू करें।
  • हर दिन की सामयिक घटनाओं (करेंट अफेयर्स) को जरूर पढ़ें।
  • अपने सभी विषयों के लिए एक समय-सारणी तैयार कर लें और उसी के हिसाब अपनी पढ़ाई करें।
  • अपने विषय आधारित प्रश्नों पर अधिक ध्यान दें।
  • आजकल ऑनलाइन बहुत से ऐसे चैनल उपलब्ध हैं जहाँ से आप परीक्षा के लिए कई विषयों की अच्छी तैयारी कर सकते हैं।
  • फिर आपको अपनी सेहत पर भी ध्यान देना होगा क्योंकि आपका शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ होना अनिवार्य है।
  • खुद को फिट रखने के लिए रोज सुबह दौड़ लगाएं। इससे आपके फिजिकल टेस्ट की भी तैयारी होती रहेगी।
  • पिछले दो-तीन साल के प्रश्न-पत्र को खुद से हल करने की कोशिश करें।
  • इस तरह अगर आत्मविश्वास के साथ सी.आर.पी.एफ. परीक्षा की तैयारी करते हैं, तो आप लिखित परीक्षा और फिजिकल टेस्ट दोनों पास कर सकते हैं।

सी.आर.पी.एफ. परीक्षा पैटर्न

अगर आप सी.आर.पी.एफ. हेड कांस्टेबल के पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको सीबीटी टेस्ट परीक्षा देनी होती है। इस पेपर में 100 वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न होते हैं। इस पूरे टेस्ट पेपर की समयावधि 90 मिनट होती है। इसी समय अंतराल के अंतर्गत आपको प्रश्न-पत्र को हल करना होता है। इस प्रश्न-पत्र को दो भाषाओं में तैयार किया जाता है और प्रत्येक गलत उत्तर पर 0.25 अंक प्राप्त किए हुए अंक में से कम कर दिए जाते हैं। सी.आर.पी.एफ. परीक्षा पैटर्न को आप टेबल से समझ सकते हैं-

विषय क्षेत्र संबंधितप्रश्नों कि संख्या
हिंदी या अंग्रेजी भाषा (वैकल्पिक)25
सामान्य योग्ता (General Aptitude) 25
सामान्य बुद्धिमत्ता (General Intelligence) 25
संख्यात्मक अभियोग्ता (Quantitative Aptitude)25
कुल अंक 100

सीबीटी टेस्ट परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों को कौशल परीक्षण (स्किल टेस्ट) पीएसटी/डीवी/डीएमई (PST/DV/DME) भी पास करना होता है। आपको बता दें कि सीबीटी टेस्ट पास किए हुए उम्मीदवारों को ही कौशल परीक्षण के लिए बुलाया जाता है जिसे सी.आर.पी.एफ. के विभिन्न केंद्रों पर आयोजित किया जाता है। यह परीक्षण क्वालिफाइंग प्रकृति का होता है। इसे आप टेबल से देखकर आसानी से समझ सकते हैं-

पद पैरामीटरपैरामीटर
कौशल परीक्षण (हेड कांस्टेबल हेतु)डिक्टेशन (अंग्रेजी टाइपिंग कंप्यूटर पर 35 शब्द प्रति मिनट की न्यूनतम गति के साथ)ट्रांस्क्रिप्शन (हिंदी टाइपिंग कंप्यूटर पर 30 शब्द प्रति मिनट की न्यूनतम गति के साथ)

सी.आर.पी.एफ. वेतन

7वें वेतन आयोग के मुताबिक लगभग सभी सरकारी पदों के वेतन में बदलाव आया है। सी.आर.पी.एफ. के पद के अनुसार आप वेतन को टेबल से देख सकते हैं-

क्रम संख्यासी.आर.पी.एफ. पदवेतन
1. महानिदेशक2,50,000/- रु. (तय)
2. विशेष महानिदेशक2,25,000/- से 2,30,000/- रु. तक
3. सहायक महानिदेशक2,10,000/- से 2,25,000/- रु. तक
4. महानिरीक्षक1,12,200/- से 2,01,000/- रु. तक
5. उप महानिरीक्षक1,12,200/- से 2,01,000/- रु. तक
6. कमांडेंट1,12,200/- से 2,01,000/- रु. तक
7. सेकेंड-इन कमांडेंट1,12,200/- से 2,01,000/- रु. तक
8. डिप्टी कमांडेंट46,800/- से 1,17,300/- रु. तक
9. सहायक कमांडेंट46,800/- से 1,17,300/- रु. तक
10. सूबेदार मेजर27,900/- से 1,04,400/- रु. तक
11. इंस्पेक्टर27,900/- से 1,04,400/- रु. तक
12. उप निरीक्षक27,900/- से 1,04,400/- रु. तक
13. सहायक उप निरीक्षक15,600/- से 60,600/- रु. तक
14. हेड कांस्टेबल15,600/- से 60,600/- रु. तक
15. कांस्टेबल15,600/- से 60,600/- रु. तक
FAQs
प्रश्न: सी.आर.पी.एफ. क्या है?

उत्तर: सी.आर.पी.एफ. को अर्धसैनिक बल भी कहा जाता है क्योंकि यह भारत का सबसे बड़ा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल है जोकि केंद्र सरकार को सुरक्षा प्रदान करता है और गृह मंत्रालय के अधीन रहकर कार्य करता है।

प्रश्न: सी.आर.पी.एफ. की स्थापना कब हुई?

उत्तर: वर्ष 1939 में।

प्रश्न: सी.आर.पी.एफ. का पूरा नाम क्या है?

उत्तर: केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force)।

प्रश्न: सी.आर.पी.एफ. में कितनी बटालियन हैं?

उत्तर: सी.आर.पी.एफ. में कुल 246 बटालियन है जिसमें से 208 कार्यकारी बटालियन, 15 द्रुत कार्यबल बटालियन, 3 महिला बटालियन, 10 कोबरा बटालियन, 5 सिगनल बटालियन, 3 एन.डी.आर.एफ. बटालियन, एक विशेष कार्यसमूह और एक ही संसद ड्यूटी ग्रुप शामिल है।

प्रश्न: सी.आर.पी.एफ. में महानिदेशक का वेतन कितना है?

उत्तर: सी.आर.पी.एफ. में महानिदेशक का वेतन 2,50,000/- रु. है।

अन्य फुल फॉर्म के लिएयहाँ क्लिक करें

Leave a Comment